माता-पिता की मूरत है गुरू, इस कलयुग में भगवान की सूरत है गुरू”, जाने शिक्षक दिवस पर गुरु की महिमा

भारत में डॉ. सर्वपल्ली राधाकृष्ण के सम्म्मान में 5 सितम्बर को शिक्षक दिवस मनाया जाता है। इस दिन देश के द्वितीय राष्ट्रपति रहे राधाकृष्णन का जन्म-दिवस होता है। 'गुरु' का हर किसी के जीवन में बहुत महत्व होता है। समाज में भी उनका अपना एक विशिष्ट स्थान होता है। सर्वपल्ली राधाकृष्णन शिक्षा में बहुत विश्वास रखते थे। वे एक महान दार्शनिक शिक्षक थे। उन्हें अध्यापन से गहरा प्रेम था। एक आदर्श शिक्षक के सभी गुण उनमे विद्यमान थे। इस दिन समस्त देश में सरकार द्वारा श्रेष्ठ शिक्षकों को पुरस्कार भी प्रदान किया जाता है। वास्तव में गुरु का स्थान माता-पिता, भगवान से सबसे ऊपर है। हमे जन्म माता-पिता से मिलता है। लेकिन हमे जीवन में जीने की शिक्षा, कामयाब बनने की शिक्षा सिर्फ गुरु देता है। सही मायने में शिक्षक सिर्फ वही व्यक्ति नहीं है जो हमें स्कूल, कॉलेजों में पढ़ाये, अपितु शिक्षक वो भी है जो जीवनपर्यन्त किसी न किसी रूप में हमे जीवन जीने की कला सिखाता है। ऐसे ही गुरु और चेले को समर्पित खास दिन की बात हम करने जा रहे हैं। एक छात्र के लिए और उसके जीवन के लिए गुरू का क्या महत्व है? इस सवाल का जवाब देने के लिए हर शब्द कम पड़ जाएंगे। हम आपको इस आर्टिकल में शिक्षक दिवस, उसका महत्व, उसका अर्थ, टीचर्स डे क्यों और कब मनाया जाता है आदि की जानकारी देंगे। Teacher’s Day 2022 के बारे में पूरी जानकारी प्राप्त करने के लिए आप इस आर्टिकल को पूरा पढ़ सकते हैं।  

स्कूलों में क्या तैयारियां होती है? 
Teacher’s Day सभी स्कूल-कॉलेजों में बड़े ही धूम-धाम से मनाया जाता है। हम सब की लाइफ में गुरुओं का अपना एक अलग ही महत्व होता है। एक शिक्षक अगर चाह ले तो अपने छात्र का जीवन बना दे, और अगर चाह ले तो वह जीवन बिगाड़ भी सकता है। कामयाबी तक तो हर कोई पहुंचना चाहता है, लेकिन कामयाबी की उन सीढ़ियों पर चलना सिर्फ हमारे गुरू ही हमें सिखाते हैं। इस दिन स्कूलों में पढ़ाई बंद रहती है। स्कूलों में उत्सव, धन्यवाद और स्मरण की गतिविधियां होती हैं। बच्चे व शिक्षक दोनों ही सांस्कृतिक गतिविधियों में भाग लेते है। स्कूल-कॉलेज सहित अलग अलग संस्थाओ में शिक्षक दिवस पर विविध कार्यक्रम आयोजित किए जाते है। छात्र विभिन्न तरह से अपने गुरुओं का सम्मान करते है, तो वहीं शिक्षक गुरु-शिष्य परम्परा को कायम रखने का संकल्प लेते है। स्कूल और कॉलेज में पुरे दिन उत्सव सा माहौल रहता है। दिनभर रंगारंग कार्यक्रम और सम्मान का दौर चलता है।  

शिक्षक दिवस का महत्व - 
शिक्षक ही नहीं सभी छात्रों के लिए भी शिक्षक दिवस बहुत महत्वपूर्ण है। इस दिन छात्र अपने शिक्षक और शिक्षकाओ के सामने अपने विचार और अपनी भावनाएं व्यक्त कर सकते हैं। शिक्षक दिवस के दिन देश के पूर्व उप राष्ट्रपति डॉ. सर्वपल्ली राधाकृष्णन को याद किया जाता है। शिक्षक दिवस भारत के साथ-साथ अन्य देशो में भी मनाया जाता है। हर एक देश में अलग-अलग दिनांक पर शिक्षक दिवस को मनाया जाता है। भारत में शिक्षक दिवस 5 सितम्बर को मनाया जाता है और वर्ल्ड टीचर्स डे दिनांक 5 अक्टूबर को मनाया जाता है।

महिला ने टैप कर दी WhatsApp लिंक, खाते से उड़ गए 21 लाख

12th के बाद बेहतर करियर के लिए किस कोर्स और फील्ड का करें चयन

आई लव यू बोलकर छात्रा के साथ अश्लील हरकत करने लगा टीचर, मामला कर देगा हैरान 

न्यूज ट्रैक वीडियो

- Sponsored Advert -

Most Popular

- Sponsored Advert -