द ग्रेट खली के रेसलिंग इवेंट पर सियासत शुरू

Jul 02 2018 06:14 PM
द ग्रेट खली के रेसलिंग इवेंट पर सियासत शुरू

मंडी और सोलन में द ग्रेट खली के रेसलिंग इवेंट को लेकर हिमाचल प्रदेश की जयराम सरकार को कांग्रेस घेरने की तैयारी में है. ऊना में कांग्रेस विधायक दल के नेता मुकेश अग्रिहोत्री ने इवेंट के लिए जुटाए जा रहे धन पर सरकार से सवाल किये है. मुकेश अग्रिहोत्री ने प्रदेश सरकार के खेल विभाग, वित्त विभाग व मंत्री मंडल की बैठक के एजेंडे का पत्र जारी करने पर इवेंट के पीछे पर्दे में मुख्यमंत्री व खेल मंत्री के बड़े खेल की ओर इशारा किया है. विपक्ष नेता मुकेश ने कहा कि इवेंट को लेकर प्रदेश सरकार जनता से झूठ बोल रही है. खेल मंत्री रोज नए नए ब्यान दे रहे हैं, जबकि उनसे इस बारे में किसी ने कुछ पूछा ही नहीं. उन्होंने कहा कि खेल मंत्री खुद ही एकतरफा ब्यान देते आ रहे हैं

मुकेश ने कहा कि इस खेल इवेंट के लिए कुल साढ़े चार करोड़ रुपये का प्रस्ताव है और तीन करोड़ की राशि देने को कहा गया था. ग्रेट खली की कंपनी सीडब्लयूई के माध्यम से खेल परिषद व जिला प्रशासन को प्रयोजक बनाकर यह इवेंट होना तय किया गया था. मुकेश ने कहा कि इतना ही नहीं वित्त विभाग ने भी पैसे देने से इंकार किया. 

मुकेश ने आरोप लगाया कि इस पूरे इवेंट के पीछे सरकार है. मुकेश ने कहा कि मंत्रिमंडल की बैठक में पैसे की बात न बनने के बाद सरकार ने खेल विभाग के सचिव से विभिन्न विभागों को पत्र जारी कर इस इवेंट के लिए पैसा जमा करवाने के निर्देश दिए हैं. इससे साफ़ पता चलता है कि खेल मंत्री जो कह रहे है कि इस इवेंट में सरकारी पैसा नहीं लग रहा और खली स्वयं आयोजकों का इंतजाम कर रहे हैय मुकेश ने कहा कि जनता खुद समझदार है कि यह विभाग इतनी बड़ी राशि कहां से देगा?

फीफा: नॉकआउट का रोमांच आज रात से, देखे शेड्यूल

फीफा: माँ के लिए 23 की उम्र में फुटबाल को अलविदा कहा ईरान के मेसी ने

फीफा: बेल्जियम इंग्लैंड पर भारी पड़ी

 

?