फसल बर्बाद होने से किसान ने फांसी लगाकर की आत्महत्या

Sep 24 2015 03:23 AM
फसल बर्बाद होने से किसान ने फांसी लगाकर की आत्महत्या

बैतूल। कुदरत की मार ने किसानो की फसल को तबाह कर दिया है हालात यह है की आज किसान आत्महत्या कर रहा है। जिले के भीमपुर ब्लाक के ग्राम झाकक ऐसा ही एक मामला सामने आया है जिसमे एक किसान ने तबाह हुई फसल को देखकर अपने खेत से ही जा रही हाईटेंशन लाइन के टॉवर पर फंदा लगाकर फांसी लगा ली। किसान ने बैंक से डेढ़ लाख रुपए कर्ज भी ले रखा था और पिछले काफी समय से वह मजदूरी के लिए हरदा गया हुआ था।

सूत्रों के अनुसार भीमपुर ब्लाक के झाकक गांव में सतीश करामा कोरबू नाम के किसान की 20 एकड़ जमीन है जिसमें उसने फसल लगाई थी। इसके बाद वह काम की तलाश में हरदा गया और वहा मजदूरी करने लग गया। इस बीच बैतूल जिले में हुई तेज बारिश और अन्य कुदरत की मार से उसकी फसल तबाह हो गई। पिछले दिनों वह हरदा से लौटा और कल उसने अपने खेत की हालत देखी तो सदमे में आ गया।

सतीश ने खेत में से जा रही हाईटेंशन लाइन के टॉवर के एंगल पर फंदा लगाकर फांसी लगा ली। मृतक के परिजनों ने बताया की उसने खेती के लिए करीब डेढ़ लाख रुपए का बैंक से कर्ज भी ले रखा था जिसको लेकर वह परेशान रहता था। ऊपर से कुदरत की मार के कारण उसकी फसल बर्बाद हो गई जिससे सदमे में आकर उसने आत्महत्या कर ली।