खौफनाक हुआ मंज़र: बेटी की विदाई करके घर लौट रहा था परिवार, रास्ते में हुआ दुर्घटना का शिकार

बेटी की शादी कर लौट रहे परिवार की खुशियां पल भर में ही शोक में बदल गई। उत्तराखंड के किच्छा में मंगलवार तड़के परिवार बेटी की विदाई कर लौट रहा था कि तभी उनकी कार सड़क दुर्घटना का शिकार हो गई। दुर्घटना में दुल्हन की मां समेत 3 लोगों की जान चली गई, जबकि दो लोग गंभीर रूप से जख्मी हैं। जख्मियों को हॉस्पिटल में भर्ती कराया गया है। 

जंहा इस बात का पता चला है कि हादसा मंगलवार सुबह तकरीबन पांच से छह बजे के मध्य हुआ। किच्छा निवासी जगदीश अग्रवाल अपने परिवार के साथ बेटी की शादी करने गदपुर गए थे। सोमवार रात को शादी के उपरांत आज सुबह लड़की की विदाई करने के बाद उसका भाई, मां, ताई, पड़नानी और पड़ोस में रहने वाली एक अन्य महिला कार से वापस किच्छा आ रहे थे। हादसे के बीच वहां मॉर्निंग वॉक कर रहे FCI के प्रबंधक चरण सिंह आयु  40 भी कार की चपेट में आ गए जिनकी घटनास्थल  पर ही मौत हो गई। हादसा होते देख राहगीरों ने इसकी जानकारी पुलिस को दी।

जंहा इस बात का पता चला है कि पुलिस और राहगीरों ने किसी तरह कार के अंदर से लोगों को बाहर निकाला लेकिन तब चरण सिंह के साथ ही कुसुम लता उम्र 55 वर्ष पत्नी ज्योति प्रकाश शर्मा निवासी पुरानी गल्ला मंडी किच्छा और मंजू आयु 62 पत्नी जगदीश निवासी बसंत गार्डन किच्छा की जान जा चुकी थी। मिली जानकारी के अनुसार जबकि निर्मला देवी पत्नी सुरेंद्र गोयल व लड़की का भाई रॉकी, अनिता पत्नी मदन गोपाल जख्मी हो गया। घायलों को रुद्रपुर के एक प्राइवेट हॉस्पिटल में भर्ती कराया गया है। डॉक्टरों का कहना है कि दोनों की हालत नाजुक है।  वहीं यह भी कहा जा रहा है कि हादसा घर से तकरीबन 100 मीटर दूर ही हुआ। रॉकी अपनी पड़नानी को किच्छा में ही उनके घर छोड़कर तब वापस लौटकर अपने घर आने वाला थे। वह उन्हें छोड़ने अपने घर से कुछ दूर ही निकला था कि दुर्घटना हो गई।

केरल में बेटियों को न्याय दिलाने की मांग कर रही मां, जानिए क्या है पूरा मामला

पत्नी ने नहीं दिया तलाक, तो पति ने जगह-जगह उसके पोस्टर चिपकाकर लिख दिया 'वांटेड'

चेक क्लीयरेंस को लेकर बदलने जा रहा बड़ा नियम, RBI ने सभी बैंकों को दिया आदेश

- Sponsored Advert -

Most Popular

- Sponsored Advert -