कर्नाटक चुनाव: यूपी की राजनीति पर परिणाम का असर

नई दिल्ली: आज 15 मई को कर्नाटक विधान सभा चुनाव के लिए हुए मतदान की मतगणना की जाएगी. मतगणना का काम सुबह 8 बजे से शुरू हो गया है. यह चुनाव जहाँ भाजपा और कांग्रेस के लिए अहम् है, वहीं उत्तर प्रदेश की राजनितिक पार्टी सपा और बसपा पर भी चुनावी परिणामों का गहरा असर पड़ेगा. भाजपा और कांग्रेस के अलावा कर्नाटक में जेडीएस पार्टी की भी महत्वपूर्ण भूमिका रहेगी.

इस चुनाव में पूर्व प्रधानमंत्री एचडी देवगौड़ा की पार्टी जेडीएस किंगमेकर साबित हो सकती है, ज्यादातर एग्जीट पोल में किसी भी पार्टी को पूर्ण बहुमत मिलती नजर नहीं आ रही है. यदि ऐसा होता है तो सत्ता में आने के लिए बीजेपी या कांग्रेस दोनों को ही जेडीएस  के सहारे की जरूरत होगी, यदि जेडीएस  बीजेपी का साथ देती है, तो इससे उत्तर प्रदेश में सपा-बसपा के साथ को झटका लग सकता है.

चूंकि कर्नाटक चुनाव में किंगमेकर के तौर पर देखी जा रही जेडीएस का बसपा के साथ गठबंधन है, ऐसे में जेडीएस का बीजेपी के साथ जाना, उत्तर प्रदेश में सपा बसपा के लिए मुश्किल खड़ा कर सकता है. सपा और बसपा दोनों ही बीजेपी की घोर विरोधी पार्टी हैं. हालांकि जेडीएस अभी तक अपने बयान में यही कहती आई है कि वो कांग्रेस या बीजेपी किसी भी पार्टी का समर्थन नहीं करेगी. 

कर्नाटक का फैसला: कांग्रेस 8, बीजेपी 8, जेडीएस 4 सीटों पर आगे

गोवा और मेघालय सी गलती नहीं दोहराना चाहेगी कांग्रेस

कर्नाटक के परिणामों पर बैंगलुरु फैक्टर का असर

 

- Sponsored Advert -

Most Popular

- Sponsored Advert -