डायरी में दफ़न था मौत का राज़

By Jyoti Rajawat
Nov 30 2017 06:56 PM
डायरी में दफ़न था मौत का राज़

जयपुर. झोटवाड़ा में 20 दिन पहले 17 वर्षीय युवती लक्ष्मी की आत्महत्या का राज़ उसकी डायरी में बंद था. माता-पिता को उसकी डायरी में लिखा मिला कि छात्रा की खुदखुशी का कारण उसकी दो सहेलियां जानती हैं. सहेलियों से पूछने पर उन्हें लक्ष्मी की आत्महत्या की वजह पता लगी, जिसे सुनकर वह हैरान रह गए.

लक्ष्मी की मौत के बाद परिजन शव लेकर गांव गए. जहां क्रियाक्रम करके 15 दिन बाद जयपुर वापस आये. घर लौटने पर उन्हें कमरे में रखी डायरी दिखी. इस डायरी से चौंकाने वाली जानकारी सामने आई. डायरी के पन्ने पर लिखा था कि मेरी मौत का राज़ मेरी दो सहेलियां जानती हैं. उसके बाद परिजन बेटी की मौत का राज़ जानने के लिए सहेलियों के घर पहुंचे. दरअसल लक्ष्मी उर्फ ज्योति (17) 12 वीं की छात्रा थी, उसके पिता राधेश्याम आर्मी हवलदार हैं और उधमपुर में तैनात हैं. नवंबर में लक्ष्मी की माँ मायके गई थी, तब लक्ष्मी घर में अकेली थी. तब उनके परिवार में दामाद लगने वाला कानाराम उनके घर रोज दूध देने आता था.

एक दिन कानाराम ने लक्ष्मी को अकेला पाकर उसके साथ जबरदस्ती गलत हरकत कर दी, जिससे वह अवसाद में थी. सहेलियों ने बताया कि वह आपको यह बात बताकर बहन का रिश्ता खराब नहीं करना चाहती थी. परन्तु शायद उस हादसे से वह इतना दुखी हो गई थी कि उसने यह कदम उठा लिया.

कुमार विश्वास का कॉन्ट्रोवर्सियल ऑडियो वायरल

गोलियों की गूँज से फिर दहली दिल्ली

रैन बसेरों की खस्ता हालत