जवाब देने की तैयारी, चीन विवाद पर CDS और तीनों सेनाओं के प्रमुखों से मिले रक्षामंत्री

नई दिल्ली:  देश इस समय कोरोना वायरस जैसी महामारी से जंग लड़ रहा है. लेकिन दूसरी तरफ लद्दाख में चीनी सैनिकों ने भी सिरदर्द बढ़ा रखा है. लद्दाख में जारी गतिरोध को खत्म करने के लिए 6 जून को दोनों देशों की सेनाओं ने मीटिंग की. इसी पर चर्चा करने के लिए सोमवार को केंद्रीय रक्षा मंत्री राजनाथ सिंह ने तीनों सेनाओं के प्रमुख और चीफ ऑफ डिफेंस स्टाफ बिपिन रावत के साथ बैठक की.

सूत्रों की मानें तो इस मीटिंग में तीनों सेनाओं के प्रमुख और CDS के द्वारा वास्तविक नियंत्रण रेखा (LAC) के ताजा हालात की जानकारी दी गई. मीटिंग में वर्तमान हालात के साथ-साथ भविष्य की रणनीति को लेकर चर्चा की गई. 6 जून की बैठक में दोनों देशों ने जिन मुद्दों को उठाया, दोनों देश जिस मुद्दे पर आपत्ति जाहिर कर रहे थे, उसको लेकर भी इस मीटिंग में चर्चा हुई. रक्षा मंत्री और सेना के अधिकारियों के बीच ये बैठक लगभग एक घंटे तक चली.

आपको बता दें कि लद्दाख में मई की शुरुआत से ही भारत और चीन के बीच घमासान जारी है. भारत का आरोप है कि चीनी सैनिक लद्दाख में उस इलाके तक घुस चुके हैं, जो हमारा क्षेत्र है. किन्तु चीन इसे ही LAC की लाइन बता रहा है, ऐसे में कई बार दोनों देशों के जवान आमने-सामने भी आए हैं. कई राउंड की बातचीत नाकाम होने के बाद 6 जून को दोनों देशों के बीच लेफ्टिनेंट लेवल की वार्ता हुई, जिसमें मुद्दे को बातचीत से सुलझाने पर बल दिया गया. भारत की तरफ से इस मीटिंग में सख्ती से मांग रखी गई कि अप्रैल से पहले वाली स्थिति को दोबारा बहाल किया जाए. हालांकि, इसपर अभी कुछ निर्णय  नहीं हुआ है और वापस बातचीत जारी रहेगी.

कैंसिल ट्रेन टिकट के रिफंड को लेकर ना हों परेशान, रेलवे ने कर दिया है बड़ा ऐलान

मोदी सरकार आज से बेच रही बेहद सस्ता सोना, आप भी उठा सकते हैं लाभ

पेट्रोल-डीजल के दामों में फिर हुआ इजाफा, यहाँ जानिए आज के भाव

- Sponsored Advert -

Most Popular

- Sponsored Advert -