इस राज्य में बुरा हुआ लोगों का हाल, हर घंटे गुल हो रही है बिजली, ठप हुए व्यवसाय

रांची: झारखंड की राजधानी रांची में बीते कई दिनों से निरंतर बिजली गुल रहने की वजह से जहां स्थानीय लोगों का दैनिक जीवन बुरी प्रकार से प्रभावित हो रहा है वहीं कारोबारियों का कारोबार भी ठप होने की कगार पर है। इतना ही नहीं बिजली गुल होने के पश्चात् लोग देर रात सड़क पर घूमने या ता पार्क में बैठने के लिए विवश हैं। इस के चलते कुछ कारोबारियों ने बिजली संकट की वजह से व्यापार चौपट होने की बात कही है। स्थानीय दुकानदार मनोज कुमार दुबे ने कहा है कि हम दिन भर धूप में रहते हैं तथा शाम को कुछ संतोषजनक कारोबार होने की उम्मीद करते हैं किन्तु इस के चलते बिजली ही चली जाती है। हमारा कारोबार चौपट हो रहा है। 

वही एक अन्य स्थानीय दुकानदार ने बोला कि हमें दोपहर में 3-4 घंटे के लिए बिजली संकट का सामना करना पड़ता है। मेरी फोटोकॉपी मशीनों के साथ एक स्टेशनरी की दुकान है जो तकरीबन 14-15 घंटे खुली रहती है। किन्तु कारोबार के मुख्य समय में ही बिजली चली जाती है जिससे हम फोटोकॉपी करने का काम नहीं कर पा रहे हैं। ऐसे में हमें भारी हानि उठानी पड़ रही है। 

वही झारखंड में बिजली संकट के चलते सियासत उफान पर है। विपक्षी दल बीजेपी कहा कि गर्मी के इस मौसम में बिजली संकट से आम लोग परेशान है। आम लोगों से सीधे रूप से जुड़े इस मसले पर बीजेपी ने हेमंत सरकार को घेरना आरम्भ कर दिया है। बिजली संकट को लेकर बुधवार को बीजेपी ने दुमका में एक सभा आयोजित की तथा इसमें हेमंत सरकार पर सीधा हमला बोला। बीजेपी विधायक दल के नेता बाबूलाल मरांडी ने कहा कि लोग बताते हैं कि दुमका MLA बसंत सोरेन को जिस दिन 1 करोड़ रुपये नहीं प्राप्त होते तो रात में नींद नहीं आती। पूरा का पूरा सरकारी महकमा विधायक जी के टारगेट को पूरा करने में जुटा है। जरा मुख्यमंत्री साहब बताएं कि संथालपरगना में उनके परिवार व चमचों को छोड़कर कितने आदिवासियों को खदानों की लीज मिली।

बर्फ के बीच हिमवीरों ने का अनोखा योग सत्र, 15 हजार फीट की ऊंचाई पर ITBP जवानों ने कर दिखाया ये कारनामा

घोषित हुए MP 10वीं-12वीं बोर्ड के रिजल्ट, ऐसे चेक करें अपना नतीजा

सेमीकॉन इंडिया मीट में बोले पीएम, भारत में दुनिया का सबसे तेजी से बढ़ता स्टार्ट-अप इको-सिस्टम

- Sponsored Advert -

Most Popular

- Sponsored Advert -