हाथ में संविधान लेकर निकली दूल्हे की बारात, वजह जानकर उड़ जाएंगे होश

नीमच: एमपी के नीमच शहर के एक गांव में एक दलित शख्स को पुलिस के साए में बारात निकालनी पड़ी. इसके पीछे का कारण दबंगों की धमकी बताई गई है. पुलिस अफसर ने कहा कि मनासा थाना इलाके के सारसी गांव में दबंगों ने दलित दूल्हे को घोड़ी पर चढ़कर बारात नहीं निकालने की धमकी दी थी. इसकी शिकायत प्राप्त होने पर पुलिस अफसरों ने गांव में पहुंचकर DJ बजाकर धूमधाम से बारात निकलवाई. बारात निकालने से पहले लगभग 100 पुलिसकर्मियों ने गांव में फ्लैग मार्च किया, फिर बारात को सुरक्षा देते हुए उसे गांव से निकाला. इस के चलते लोग डर के साए में भी झूमते तथा नाचते नजर आए. दूल्हा भी घोड़ी पर हाथ में संविधान की प्रति लेकर बैठा था. यह घटना गणतंत्र दिवस के अगले दिन की है.  

मिली खबर के मुताबिक, मनासा से तकरीबन 3 किलोमीटर दूर मौजूद ग्राम सरसी के फकीरचंद मेघवाल ने कुछ समय पहले जिलाधिकारी को आवेदन देकर बेटे राहुल की शादी में दबंगों द्वारा माहौल खराब करने से संबंधित मुकदमा दर्ज करवाया था. इस पर जिलाधिकारी ने पुलिस अफसरों को निर्देशित किया था कि दलित परिवार को सुरक्षा प्रदान की जाय.

वही बृहस्पतिवार को जब राहुल की बिंदौली (बारात) निकली तो समूचे गांव में तीन थानों की पुलिस उपस्थित थी. पुलिस बल ने बिंदौली से पहले गांव में फ्लैग मार्च निकाला. तत्पश्चात, पुलिस अफसरों एवं जवानों की उपस्थिति में बिंदौली निकली. इस के चलते तहसीलदार, एसडीओपी, एसडीएम समेत सभी अफसर उपस्थित रहे.

IPL ऑक्शन में पहली बार शामिल होगा भूटान का क्रिकेटर, MS धोनी ने दिया सफलता का मंत्र

Pegasus को लेकर केंद्र पर हमलावर हुई कांग्रेस, सुरजेवाला बोले - ये देशद्रोह, सुप्रीम कोर्ट जाएंगे

भारत का विदेशी मुद्रा भंडार 678 मिलियन अमरीकी डॉलर से गिरकर 634.28 बिलियन अमरीकी डॉलर हुआ

 

- Sponsored Advert -

Most Popular

- Sponsored Advert -