वो भिया, जादा बड़ी बात तो नी, पर हिलेरी हमारी बुआजी और ट्रंप हमारे काकाजी है...

शब-ए-मालवा तो मालवांचल की शान है। सर्दी के ठिठुरते मौसम में देश के नामचीन शायरों और कवियों को सुनने का अंदाज़ सबसे अलहदा है। अब मालवा की भाषा भी अपना परचम लहर रही है। अब यह भाषा मालवा तक ही सिमटकर नहीं रह गई हैं। अब यह मीठी वाणी अमेरिका की सरजमीं तक पहुँच गई हैं। मालवांचल की यह भाषा अब सीधे-सीधे विश्व के सबसे शक्तिशाली देश अमेरिका के चुनाव से जुड़ गई है।  

दरअसल, अमेरिकी चुनाव में पहली बार बड़ी भूमिका नजर आए अप्रवासी भारतीयों में इंदौर सहित मध्यप्रदेश मूल के व्यापारी और नौकरीपेशा शामिल हैं। ऐसे में यहां की भाषा कैसे पीछे रहती। "अब भिया बात पे आता हूँ, और इस बड़े चुनाव का इंदौरी कनेक्शन बताता हूँ।''  मतलब भिया, अमेरिका का राष्ट्रपति कोई भी बने, एक तरफ हमारी बुआजी है और दूसरी तरफ काकाजी। 'पड़ी भिया सम्पट में, नी पड़ी।'  क्या यार भिया,  एक तरफ हिलेरी बुआजी और दूसरी ओर ट्रंप काकाजी...जीते कोई भी, फायदा हमारा ही होगा...।

"अबे जदे इत्ता उतावला हो रिया हो तो सईसाट बतई रयो यार! इंदौर का वी भिया है नी। अरे वी राजीव भिया, जो सिलिकॉन वैली में रे। नी पड़ी सम्पट में, अरे वी जो सॉफ्टवेयर कंपनी सैप में मार्केटिंग डाएरेक्टर और कॉमेडियन हैं। राजीव नेमा जी। उनने यार भिया इन्दोरी स्टाइल में बहुत मजेदार विडियो बनायो, उ भी हिलेरी और ट्रंप पे। बहोत चल रयो, वायरल हो ग्यो।" 

''तो भैया, राजीव  भिया ने हिलेरी क्लिंटन को बुआजी और ट्रंप को सौतेले काकाजी का बतायो।'' 

वैसे, इस विडियो को सुनकर और मजा लीजिये। यह वीडियो इतना वायरल हुआ है कि 36 घंटे में ही इसे 16 हजार से ज्यादा लाइक्स मिले हैं।

- Sponsored Advert -

Most Popular

- Sponsored Advert -