आज इंदौर में होगा सीएम शिवराज का आगमन, 86 पुलिस अफसरों की हुई कोरोना जांच

इंदौर : कमल नाथ सरकार गिराने के बाद सोमवार को मुख्यमंत्री शिवराजसिंह चौहान पहली बार इंदौर आ रहे हैं. इसकी तैयारी पुलिस व प्रशासन ने पूरी तरीके से कर ली हैं. मुख्यमंत्री तक संक्रमण न पहुंच पाए इसलिए साये की तरह साथ रहने वाले प्रत्येक व्यक्ति की कोरोना की जांच करवाई गई है. इसमें 86 पुलिस अधिकारी व कर्मचारी शामिल हैं.

वहीं, डीआइजी हरिनारायणचारी मिश्र ने रविवार को उन सभी अफसर व कर्मचारियों की बैठक ली जिनकी मुख्यमंत्री के आगमन पर ड्यूटी लगी है. उनकी गोपनीय सूची तैयार कर जिला पुलिस लाइन में कोरोना टेस्ट भी करवाए गए है. अफसरों के अनुसार, वीआइपी के दौरे में नियमानुसार 'क्लोज रिंग राउंड' रहता है. इसमें चिन्हित अफसर शामिल किए जाते हैं. इसके अलावा कारकेट, चालक बॉक्स और स्कॉट पायलट भी रहता है. इसके लिए थानों और पुलिस लाइन से डीएसपी, टीआइ स्तर के अधिकारी चिन्हित किए गए हैं. वहीं लैबरी (खाना जांचने वाली टीम), गारलैंड (फूल-मालाएं जांचने वाले), बैगेज (बैग जांचने वाले) भी विशेष रूप से तैयार किए गए हैं.

जानकारी के लिए बता दें की मुख्यमंत्री के कारकेट का जिम्मा ट्रैफिक डीएसपी बसंत कौल को सौंपा है. लिहाजा डीएसपी की भी कोविड-19 की जांच करवाई गई है. प्रभारी अधिकारी के अनुसार, स्कॉट इंचार्ज के बाद पायलट का नंबर आता है. उसकी गाड़ी पर पी लिखा झंडा रहता है और वह रास्ता दिखाते हुए कारकेट में आगे चलता है. उसके आगे वार्नर की गाड़ी रहती है. वह रास्ता खाली करवाता हुआ आगे-आगे चलता है. अंत में टेलकार चलती है. इसमें सुरक्षाकर्मी व जवान मौजूद रहते हैं. इस प्रकार कुल 86 पुलिसकर्मी व अधिकारियों की कोरोना जांच करवाई गई है.

इंदौर : शॉपिंग मॉल और होटल रहेंगे बंद, आज लिया जा सकता है खोलने पर फैसला

15 जून के आसपास मध्य प्रदेश में दस्तक दे सकता है मानसून

मध्य प्रदेश में जारी है कोरोना का प्रकोप, 207 नए मरीज मिले

- Sponsored Advert -

Most Popular

- Sponsored Advert -