सभी टीचर्स को लाइन में खड़ा किया, फिर ID कार्ड देखा, कश्मीर में फिर धर्म के नाम पर हत्या

श्रीनगर: जम्मू कश्मीर के श्रीनगर के गवर्नमेंट बॉयज हायर सेकेंडरी स्कूल में गुरुवार को दहशतगर्दों के हमले में दो लोग मारे गए थे. मृतकों में एक स्कूल के प्रिंसिपल और एक टीचर शामिल थे. आतंकवादियों की तरफ से की गई गोलीबारी में मारे गए दोनों टीचर्स में से एक कश्मीरी पंडित है, जो इन दिनों बटामालू श्रीनगर में रह रहे थे. उनकी शिनाख्त जम्मू के दीपक चंद के रूप में हुई है. वहीं दूसरी महिला स्कूल की प्रिंसिपल सुपिंदर कौर हैं. दीपक चंद हमेशा अच्छे मौसम और अच्छे लोगों की तरफ इशारा करते हुए, जम्मू के अपने रिश्तेदारों को श्रीनगर आने के लिए आमंत्रित किया करते थे. तो वहीं उनके स्कूल की प्रिंसिपल पहली दफा अपनी नई कार से श्रीनगर गईं थीं.

पिछले सप्ताह ही दीपक चंद श्रीनगर में काम पर लौटने से पहले अपनी पत्नी और बेटी को घर छोड़ने के लिए जम्मू आए थे. चंद के चचेरे भाई विक्की मेहरा ने बताया कि बुधवार शाम तक़रीबन 7.30 बजे, उन्होंने अपने बड़े भाई को फोन करते हुए कहा था कि वह अष्टमी (नवरात्र के आठवें दिन) पर घर आएंगे. उन्होंने अपनी चाची से भी बात की थी और उन्हें कश्मीर बुलाया था. इन सब बातों के 24 घंटे के भीतर ही चंद को दहशतगर्दों ने गोली मार दी थी. आतंकियों ने स्कूल की प्रिंसिपल सुपिंदर कौर की भी गोली मारकर हत्या कर दी थी. बताया गया है कि सबसे पहले आतंकियों ने स्कूल में मौजूद टीचर्स को कतार में लगा कर खड़ा किया और उनकी ID कार्ड देखकर पहचान मुकम्मल की. इसके बाद लाइन में ही खड़े स्कूल के प्रिंसिपल और एक टीचर के सीने पर गोलियां बरसा दी.

कश्मीरी पंडितों के लिए प्रधानमंत्री के रोजगार पैकेज के तहत उनकी नियुक्ति के बाद से दीपक चंद बीते चार वर्षों से कश्मीर में पढ़ा रहे थे. विक्की मेहरा ने बताया कि दीपक यहां बेहद खुश थे और परिवार के सभी लोगों को कश्मीर आने के लिए कहते थे. वह हमें बताते थे कि डरने की कोई बात नहीं है, लोग बहुत अच्छे हैं, मौसम अच्छा है और कोई तनाव नहीं है. चंद के परिवार में उनकी पत्नी आराधना और मां कांता हैं. उनके पिता लाल चंद का गत वर्ष देहांत हो गया था.परिवार में उनके बड़े भाई कमल मेहरा और एक शादीशुदा बहन भी हैं.  

फिर भड़की पेट्रोल-डीजल की कीमतों में आग, जानिए आज का भाव

फिर से उछला शेयर बाजार, सेंसेक्स में हुई 488 अंक की बढ़त

GST की कमी को पूरा करने के लिए सरकार ने उठाया ये बड़ा कदम

- Sponsored Advert -

Most Popular

- Sponsored Advert -