पाक का भविष्य आतंक के साये में, 1500 आतंकी मैदान में

नई दिल्ली। पाकिस्तान में कल यानि की बुधवार 25 जुलाई को आम चुनाव होने वाले है. यह चुनाव पाकिस्तान में आने वाला भविष्य तय करेंगे. पाकिस्तान भी भारत की तरह ही एक लोकतान्त्रिक देश है. यहाँ पर भी जनता ही सरकार को चुनती है. अब तक पाकिस्तान में कोई भी प्रधानमंत्री पांच साल तक का अपना कार्यकाल पूरा नहीं कर पाया है. जिससे इस चुनाव की उपयोगिता समझी जा सकती है. 

पाकिस्तान के इस बार होने वाले चुनाव में सबसे ख़ास बात यह है कि इस बार पाकिस्तान में नवाज़ शरीफ चुनावों में हिस्सा नहीं लेंगे क्योकि भ्रष्टाचार के मामले में जेल में सजा काट रहे है. वहीं इमरान खान की पार्टी पुरे जोर के साथ यहाँ प्रचार में जुटी हुई है. लेकिन इन सब के बीच अगर कोई पाकिस्तान में अपनी सत्ता काबिज करने में लगा है तो वह है यहाँ के आतंकी संगठन.

इसमें सबसे आगे है 2008 के मुंबई आतंकी हमलों का साजिशकर्ता हाफिज सईद इस पर अमेरिका ने भी एक करोड़ डॉलर का इनाम रखा है. पाक में आतंकियों में सबसे पहले इसकी पार्टी मिल्ली मुस्लिम लीग (एमएमएल) है, उसके बाद तहरीक ए लब्बैएक पाकिस्तान, अहल-ए- सुन्नत वाल जमात, मुत्ताहिदा मजलिस-ए-अमल पार्टियां शामिल हैं.

* चुनाव लड़ने वाले आतंकियों की पार्टिया और संख्या

इस बार पाक चुनाव में 1500 से ज्यादा आतंकी मैदान में है.

पार्टी-मिली मुस्लिम लीग
नेता- सैफुल्ला खालिद, जिसे मुंबई अटैक के मास्टर माइंड हाफिज सईद का समर्थन मिला हुआ है.  
कानूनी स्थिति- सैफुल्ला कानूनी तौर से पाकिस्तान में प्रतिबंधित है.  उनपर सईद हाफिज के समर्थक होने की वजह से यह प्रतिबंध लगा है. 
चुनावी स्थिति- सैफुल्ला रजिस्टर्ड तो अल्लाह-हु-अकबर तहरीक पार्टी की तरफ से कैंपेन कर रहे हैं. अपने चुनाव प्रचार में वह हाफिज सईद की फोटो का उपयोग कर रहे हैं. 
कुल उम्मीदवार-260
 नेशनल एसेंबली-73
प्रांतीय चुनाव-187 

पार्टी-तहरीक-ए-लब्बैक पाकिस्तान
नेता- खादिम हुसैन रिजवी
कानूनी स्थिति- चुनाव आयोग में पंजीकृत
चुनावी स्थिति- उम्मीदवार टीएलपी के बैनर के अंदर लड़ रहा है
उम्मीदवार-566
नेशनल एसेंबली-178 
प्रांतीय चुनाव-388 

पार्टी-अहल-ए-सुन्नत वल जमात
नेता-मौलाना मोहम्मद अहमद लुधियानवी
कानूनी स्थिति- यह अल कायदा और इस्लामिक स्टेट का संगठित समूह है इसलिए यह कानूनी तौर पर पाकिस्तान में प्रतिबंधित है. इनपर आरोप है कि इस संगठन ने हजारों शियाओं की हत्या की. 
चुनावी स्थिति- उम्मीदवार राह-ए-हक और निर्दलीय चुनाव लड़ रहे हैं.
कुल उम्मीदवार-150

पार्टी-मुत्ताहिदा मजलिस-ए-अमल
नेता- मौलाना फजल-उर-रहमान, सिराजुल हक और अल्लामा साजिद नक्वी
कानूनी स्थिति- लंबे समय से यह चुनाव आयोग में पंजीकृत है.
चुनावी स्थिति- यह एक धार्मिक संगठन की पार्टी है. इसके अतंगर्त दो पार्टी के बैनर तले अधिकतर उम्मीदवार चुनावी मैदान में हैं. साथ ही एमएमए गठबंधन के अतंगर्त लड़ रहे हैं.
उम्मीदवार -595
नेशनल एसेंबली-191
प्रांतीय चुनाव-404

यहाँ पर इस बार 105 मिलियन्स वोटर्स राजनेताओं का भविष्य तय करेंगे. 

इनमें पंजाब (141 सीट), सिंध (61 सीट) खैबर-पख्तूनख्वा (39 सीट), बलूचिस्तान (16 सीट), फाटा - संघ प्रशासित आदिवासी क्षेत्र (12 सीट), राजधानी क्षेत्र इस्लामाबाद (तीन सीट) के नाम शामिल है. धर्म के आधार पर पाकिस्तान में 96.28% मुसलमान, 1.59% ईसाई, 1.6% हिंदू और .58% बाकी धर्मों के लोग हैं.

ख़बरें और भी..

पाक में चुनाव प्रचार ख़त्म, इमरान और नवाज़ में काटे की टक्कर

पाकिस्तान चुनाव में छाए अमिताभ और माधुरी

पाक चुनाव में शरीफ ने किये लच्छेदार वादे

- Sponsored Advert -

Most Popular

- Sponsored Advert -