बिखराव की कगार पर लालू की RJD, तेजस्वी-तेजप्रताप नदारद, राबड़ी देवी के कन्धों पर जिम्मेदारी

बिखराव की कगार पर लालू की RJD, तेजस्वी-तेजप्रताप नदारद, राबड़ी देवी के कन्धों पर जिम्मेदारी

पटना: बिहार के पूर्व सीएम लालू यादव की पार्टी राजद में चल रहा अंदरूनी कलह शुक्रवार को फिर एक बार सामने आ गया। यहां पार्टी की एक अहम बैठक में एक बार फिर लालू यादव के छोटे बेटे और राज्य के पूर्व डिप्टी सीएम तेजस्वी यादव नदारद रहे। पार्टी के महत्वपूर्ण कार्यक्रमों से बार-बार तेजस्वी के गायब रहने पर अब सियासी गलियारों में तरह- तरह के कयास लगने लगे हैं।

तेजस्वी ही नहीं इस पार्टी बैठक में लालू के बड़े बेटे तेज प्रताप और बेटी और राज्यसभा सदस्य मीसा भारती भी नहीं पहुंचे। वहीं, बेटों (तेजस्वी और तेज प्रताप) में मतभेद की अटकलों के बीच इस समय लालू यादव की पत्नी और राज्य की पूर्व सीएम राबड़ी देवी खुद पार्टी की बागडोर संभाले हुए हैं। शुक्रवार को इस महत्वपूर्ण बैठक की अध्यक्षता भी उन्हें खुद करनी पड़ी। पार्टी सूत्रों ने जानकारी देते हुए बताया है कि लोकसभा चुनाव में पार्टी के निराशाजनक प्रदर्शन के बाद ऐसी अटकलें हैं कि कई नेता बिहार सीएम नीतीश कुमार की पार्टी जेडीयू से जुड़ने की योजना बना रहे हैं।

बताया जा रहा है कि शुक्रवार की यह महत्वपूर्ण बैठक उन्हीं अटकलों की पृष्ठभूमि में हुई। ऐसे में पार्टी के सबसे बड़े नेता का ही इस बैठक में शामिल नहीं होना कई तरह के सवालिया निशान लगाता है। पार्टी सूत्रों ने कहा कि इस बैठक में राजद के सभी विधायकों, विधान पार्षदों के अलावा राज्यसभा सदस्यों और शीर्ष पदाधिकारियों को हिस्सा लेना था। पर, राज्य विधानमंडल के दोनों सदनों के लगभग आधे सदस्य इस बैठक में शामिल नहीं हुए। 

लाइफ सपोर्ट सिस्टम पर पूर्व केंद्रीय अरुण जेटली, एम्स पहुँच रहे तमाम मंत्री

पूर्व सीएम बाबूलाल गौर की हालत नाजुक, शरीर ने बंद की हरकत, अस्पताल पहुंचे शिवराज सिंह चौहान

पहलु खान हत्या मामला: राजस्थान सरकार ने SIT को सौंपी जांच, 15 दिन में देनी होगी रिपोर्ट