तेजप्रताप के बयान पर बोली JDU- 'SDO के पास आवेदन करिए, उचित कानूनी कार्रवाई की जाएगी'

पटना: बीते शनिवार को तेजप्रताप यादव ने चौकाने वाली बातें कहीं। जी दरअसल इसबार उन्होंने अपने भाई पर निशाना साधा है। इशारों इशारों में उन्होंने चौकाने वाली बातें कहीं हैं। वहीं दूसरी तरफ तेजप्रताप के बयान के बाद जानकार बता रहे हैं कि अब लालू परिवार में सब ऑल इज वेल नहीं है। घर का विवाद अब सड़कों पर आ गया है। बात करें तेजप्रताप के बयान के बारे में तो वह यह बता रहा है कि वो राजनैतिक हिस्सेदारी नहीं मिलने से नाराज हैं। बीते सालों में वह अपने भाई से जितना पीछे रह गए हैं, उसे ही झेलने की हड़बड़ाहट है जो वह ऐसे बयान दे रहे हैं।

अब वह अपना कद बड़ा करना चाह रहे हैं। वहीं उनके बयान पर तेजस्वी यादव का कहना है, 'जिस व्यक्ति ने दो-प्रधानमंत्री को बनवाने का काम किया है। साम्प्रदायिक शक्तियों के खिलाफ लंबी लड़ाई लड़ी है। लालकृष्ण आडवाणी को गिरफ्तार कराया हो उस व्यक्ति को कोई बंधक कैसे बना सकता है। ये बयान लालूजी के व्यक्तित्व से मेल नहीं खाता है।' वहीं उनके आलावा जेडीयू एमएलसी और मुख्य प्रवक्ता नीरज कुमार बबलू ने कहा है कि, ''राष्ट्रीय जनता दल का ये आतंरिक मामला है। माननीय नीतीश कुमार जी ने अपने कार्यकाल में वरिष्ठ नागरिकों एवं माता पिता भरण पोषण अधिनियम 2007 बनाया है। जिसमें जीवन की सुरक्षा, संपत्ति की सुरक्षा, भरण भोषण या गुजारा भत्ता का प्रावधान है। लालू के सुपुत्र तेजप्रताप यादव अगर इस कानून का इस्तेमाल करेंगे तो उनके द्वारा लगाए गए आरोप कि हमारे पिता (लालूप्रसाद) को बंधक बना कर रखा गया है उनको कानूनी सहुलियत होगी।'

क्या कहा तेजप्रताप ने- जी दरअसल बीते शनिवार को तेजप्रताप ने कहा 'दिल्ली में लालू यादव को बंधक बना लिया गया है। उन्हें पटना आने नहीं दिया जा रहा है। जबकि पिताजी को जेल से आए साल भर होने को हैं। उन्हें वहीं रोक कर रखा गया है। RJD में जो स्थिति है उससे संगठन बढ़ेगा नहीं बल्कि टूट जाएगा। पिताजी अस्वस्थ चल रहे हैं। हम किसी तरह का प्रेशर नहीं बनाना चाहते।'

'लालू यादव को दिल्ली में बंधक बनाकर रखा गया': तेज प्रताप

'यूपी में पूर्ण बहुमत से वापसी करेगी भाजपा, योगी आदित्यनाथ फिर बनेंगे CM'

CM योगी से मिलीं कंगना, मिला ये खास तोहफा

- Sponsored Advert -

Most Popular

- Sponsored Advert -