जिम जाते हैं तो इन वर्ड्स का मतलब भी जानिये

जिम जाते हैं तो इन वर्ड्स का मतलब भी जानिये

बहुत से युवा आजकल जिम जाकर शानदार शरीर बना रहे हैं। एक्सरसाइज हमारी बॉडी के लिए बहुत जरूरी है और अगर जिम जाते हैं तो शरीर को काफी फायदा पहुँचता हैं. जिम में अक्सर कुछ शब्दों का इस्तेमाल किया जाता है जिसका मतलब सभी को नहीं पता होता। आइये जानते हैं ऐसे ही कुछ शब्दो के मतलब। रैप शब्द रिपीटीशन से बना है जिसका मतलब होता है दोहराना। किसी एक मूव को जितनी बार आप दोहराते हैं उसे रैप कहा जाता है। मसलन आप चेस्ट की कसरत कर रहे हैं तो जितनी बार वेट ऊपर नीचे होगा उस गिनती को रैप कहेंगे।

थोड़ा सा आराम करने के बाद फिर वही कसरत करते हैं तो कोई कसरत जितनी बार की जाएगी उसे उस कसरत के सेट कहेंगे। अगर किसी ने कहा कि फ्लैट बेंच प्रेस के तीन सेट तो इसका मतलब हुआ कि आप तीन बार ये कसरत करेंगे। फ्री वेट का मतलब होता है मशीनों से फ्री। मसल्स की ग्रोथ के मामले में फ्री वेट एक्सरसाइज मशीनों के मुकाबले ज्यादा कारगर साबित होती हैं। दौड़ लगाना, रस्सा कूदना, माउंटेन क्लाइंबर, पीटी, जंपिंग वगैरा को कार्डियोवस्कुलर एक्सरसाज करते हैं। इसी की शॉर्ट फॉर्म है कार्डियो। दो कसरतें एक के बाद एक बिना रेस्ट लिए। जैसे ट्राइसेप्स का एक सेट उसके बाद बिना रेस्ट लिए बाइसेप्स का एक सेट। दोनों मिलाकर हुआ सुपरसेट।

मशीन, रॉड या डंबल में लगाए गए वेट को लगातार कम करते चलना ड्रॉप सेट कहलाता है। पूरे ड्रॉप सेट में कहीं रेस्ट नहीं होता। इस तरह से एक्सरसाइज करने पर रैप की गिनती 50 या उससे भी ऊपर पहुंच जाती है। इससे मसल्स में बड़ा अच्छा पंप आ जाता है। बिना रेस्ट लिए एक ही मस्लस की दो कसरतें करना कंपाउंड सेट कहलाता है। जैसे बाइसेप्स कर्ल और बाइसेप्स डंबल कर्ल। यह सुपरसेट से अलग होता है।

कॉम्प्लेक्स सेट में कई कसरतें एक साथ की जाती हैं। ये ट्रेनिंग आमतौर पर खिलाड़ी और क्रॉस फिट एथलीट करते हैं। वेट लूज करने और लीन बॉडी के शेड्यूल में भी कॉम्प्लेक्स सेट शामिल होते हैं। क्रॉस फिट एथलीट और लीन बॉडी बनाने में जुटे लोग हाई इंटेसिटी ट्रेनिंग को आमतौर पर करते हैं। वेट लूज करने में यह बहुत कारगर है। ये ट्रेनिंग फ्री वेट, मशीन, कार्डियो सबका मिलाजुला रूप होती है। इसमें रेस्ट का पीरियड कम होता है।