तेज गेंदबाज़ों ने कोहली को दिलाया 'विराट' मुकाम, यहाँ तक नहीं पहुँच पाया भारत का कोई भी कप्तान

नई दिल्ली: विराट कोहली की कप्तानी में भारत के तेज गेंदबाज़ों के तेवर ही बदले-बदले से नज़र आ रहे हैं. टीम इंडिया में मौजूदा पेस अटैक में धार, रफ्तार और आक्रमकता, हर चीज का जबर्दस्त कॉम्बिनेशन है. केपटाउन टेस्ट की पहली पारी के बाद अब भारतीय तेज गेंदबाज़ों ने विराट कोहली को महान कप्तानों की श्रेणी में लाकर खड़ा कर दिया है. टीम इंडिया के तेज गेंदबाजों ने कोहली का नाम अब क्रिकेट इतिहास के दो सूरमा टेस्ट कप्तानों के क्लब में जोड़ दिया है.

विराट कोहली का नाम दो महान टेस्ट कप्तानों के साथ जुड़ा क्यों पहले वो वजह जान लीजिए. दरअसल, टीम इंडिया के 4 तेज गेंदबाजों ने कोहली की कप्तानी में 100 से अधिक टेस्ट विकेट झटके हैं. दुनिया के टेस्ट क्रिकेट के इतिहास में अब तक केवल 2 ही ऐसे कप्तान हुए जिनकी कप्तानी में 4 या उससे अधिक तेज गेंदबाजों ने 100 से अधिक विकेट अपने नाम किए हैं. इनमें सर्वाधिक 7 तेज गेंदबाज साउथ अफ्रीका के ग्रेम स्मिथ की कप्तानी में रहे. वहीं दूसरे नंबर पर है वेस्ट इंडीज के महान कप्तान क्लाइल लॉयड का नाम है, जिनकी अगुवाई में 5 तेज गेंदबाजों ने 100 से अधिक टेस्ट विकेट लिए हैं.

विराट कोहली की कप्तानी में 100 से अधिक टेस्ट विकेट लेने वाले चौथे तेज गेंदबाज जसप्रीत बुमराह रहे, जिन्होंने केपटाउन टेस्ट की पहली पारी में 5 झटककर ये मुकाम हासिल किया. उनसे पहले मोहम्मद शमी, इशांत शर्मा और उमेश यादव कोहली की कप्तानी में 100 टेस्ट विकेट अपने नाम कर चुके थे. विराट की कप्तानी में सर्वाधिक 167 टेस्ट विकेट मोहम्मद शमी ने लिए हैं. वहीं उनके बाद दूसरे स्थान पर 121 विकेट के साथ इशांत शर्मा का नाम हैं. उमेश यादव के नाम 104 विकेट दर्ज हैं. जबकि जसप्रीत बुमराह केपटाउन टेस्ट की पहली इनिंग तक 102 विकेट अपने नाम कर चुके हैं.

आज प्रो कबड्डी में होगा इन दो टीमों के बीच घमासान, जानिए कब और कहा होगी लाइव स्ट्रीमिंग

ऑस्ट्रेलियाई ओपन के पहले दौर में हारे सानिया और बोपन्ना, गेम से हुए बाहर

पहले कहे अपशब्द फिर सिद्धार्थ ने मांगी सायना से माफ़ी

 

- Sponsored Advert -

Most Popular

- Sponsored Advert -