भूषण स्टील के लिए टाटा स्टील ने लगाई उच्चतम बोली

राष्ट्रीय कंपनी कानून ट्रिब्यूनल के तहत उच्च नीलामियों में कल बुधवार को भूषण स्टील के लिए टाटा स्टील की बोली औपचारिक रूप से उच्चतम मूल्यांकन किया गया.जबकि लिबर्टी हाउस को एम्टेक ऑटो के लिए पसंदीदा एच 1 बोलीदाता के रूप में चुना गया.

बता दें कि बीएसई के एक घोषणापत्र के अनुसार टाटा स्टील ने बीएसएल की हिस्सेदारी हासिल करने के लिए उच्चतम  बोली लगाई थी जिसे भूषण स्टील की कमेटी ऑफ क्रेडिटर्स (सीसीसी) ने 6 मार्च को टाटा समूह की कंपनी के पक्ष में फैसला ले लिया था. टाटा स्टील, भूषण स्टील के लिए सबसे अधिक ऊँची  35,000 करोड़ रुपये की बोली लगाई गई है, जबकि जेएसडब्ल्यू स्टील ने 29,700 करोड़ रुपये की बोली लगाई है.कंपनी अब भूषण स्टील के लिए अंतिम प्रस्ताव योजना पर संकल्प पेशेवर और सीओसी से बात कर रही है, जिसकी बैंकों को 45,000 करोड़ रुपये का बकाया है.

आपको जानकारी दे दें कि भूषण स्टील का वार्षिक उत्पादन क्षमता 5.6 मिलियन टन है, इससे टाटा स्टील की 13 मिलियन टन की उत्पादन क्षमता में काफी वृद्धि होगी. यह फैसला टाटा स्टील को न्यूनतम समय में भारत में सबसे बड़ी स्टील निर्माता बना देगा.

स्टील के इस क्षेत्र में लिबर्टी हाउस ने पहली उपस्थिति दर्ज की.लिबर्टी हाउस भारत में पहली विनिर्माण कंपनी है जो 10 बिलियन डॉलर के जीएफजी गठबंधन का हिस्सा है.जिसके अधिकार भारतीय मूल के एक ब्रिटिश उद्योगपति संजीव गुप्ता के पास है.जो भारत में अम्पेक ऑटो प्राइवेट लिमिटेड की संपत्ति के लिए पसंदीदा एच 1 बोलीदाता के रूप में उभरे हैं.. इस कम्पनी में 6,000 लोगों को रोजगार मिलेगा.

यह भी देखें

विश्व की शीर्ष नैतिक फर्मों में शामिल हुईं विप्रो और टाटा स्टील

हुंडई-किया मोटर्स ने किया बड़ा एलान

 

- Sponsored Advert -

Most Popular

- Sponsored Advert -