पहली बार 1738 करोड़ के मुनाफे का लुफ्त उठा रही है टाटा मोटर्स, JLR है वजह

पहली बार 1738 करोड़ के मुनाफे का लुफ्त उठा रही है टाटा मोटर्स, JLR है वजह

देश की प्रमुख ऑटोमोबाइल कंपनी टाटा मोटर्स को दो साल में पहली बार 1738 करोड़ रुपये का मुनाफा हुआ है। हालांकि कंपनी की आय में गिरावट देखने को मिली है। इससे पहले टाटा मोटर्स को जैगुआर एंड लैंड रोवर की वजह से लगातार घाटा हो रहा था। लेकिन इस बार इसी जेएलआर की वजह से कंपनी के मुनाफे में बढ़ोतरी देखने को मिल रही है।  पिछले साल हुआ था 27 हजार करोड़ का घाटा-कंपनी को पिछले साल की तीसरी तिमाही में 26,992.5 करोड़ रुपये का घाटा हुआ था। इस बार की तिमाही में कंपनी लाभ में आ गई है। हालांकि कंपनी की आय 6.8 फीसदी घटकर के 71,676.1 करोड़ रुपये रह गई है। वहीं पिछले वित्त वर्ष में कंपनी की आय 76915 करोड़ रुपये रही थी।

इसके अलावा कंपनी की एबिट 6,126.5 करोड़ रुपये से बढ़कर 7,393.8 करोड़ रुपये रही है जबकि एबिट मार्जिन 8% से बढ़कर 10.3% पर रही है। कंपनी को तीसरी तिमाही में 1,039.5 करोड़ रुपये का स्टैंडअलोन घाटा हुआ है जबकि बीते वित्त वर्ष की तीसरी तिमाही में कंपनी 518.9 करोड़ रुपये का मुनाफा हुआ था।इसके अलावा  कंपनी की स्टैंडअलोन आय 33.1 फीसदी से बढ़कर 10,842.9 करोड़ रुपये रहा है जबकि वित्त वर्ष 2019 की तीसरी तिमाही में कंपनी की आय 16,207.6 करोड़ रुपये रही थी। वर्ष दर साल आधार पर तीसरी तिमाही में कंपनी को 39.5 करोड़ रुपये का स्टैंडअलोन एबिट घाटा हुआ है। वही चीन में बिकी गाड़ियां तो जेएलआर को हुआ मुनाफा-चीन में गाड़ियां बिकने के चलते जेएलआर को इस तिमाही में 39.2 करोड़ पाउंड (3674 हजार करोड़ रुपये) का मुनाफा हुआ है।

 चीन में कंपनी की खुदरा बिक्री में 24.3 फीसदी का मुनाफा हुआ है। इसके साथ ही नई रेंज रोवर इवोक (Evoque) के चलते कंपनी को अपनी बॉटम लाइन पर आने में मदद मिली है। कंपनी की ब्रिटिश इकाई जगुआर लैंड रोवर की आय 2.8 फीसदी बढ़कर 6.4 अरब पाउंड (5,995 हजार करोड़ रुपये) रही। जेएलआर के सीईओ राल्फ स्पेथ ने कहा कि अभी वैश्विक तौर पर ऑटोमोबाइल इंडस्ट्री के लिए यह साल काफी मुश्किल भरा रहा, लेकिन चीन में गाड़ियां बिकने से हमें काफी मदद मिली है। हमारे वित्तीय नतीजों में सुधार देखने को मिला है, जिससे अब कंपनी आगे भी इलेक्ट्रिक, पेट्रोल और डीजल गाड़ियां बनाने में आगे रहेगी। कंपनी का एबिटडा मार्जिन में तीन फीसदी का सुधार देखने को मिला है। हालांकि कोरोनावायरस से अब स्थिति आगे चलकर बदल सकती है। 

Budget 2020: निजी निवेशकों को IDBI की हिस्सेदारी बेचने की तैयारी, सरकार से LIC का IPO की उम्मीद

Economic Survey 2020: सरकार ने पेश किया रोजगार का आंकड़ा, 6 सालों में दी इतनी करोड़ नौकरियां

Budget 2020 Expectations: बजट की दौड़ में एक और उम्मीद शामिल, स्पोर्ट्स को मिले प्राथमिकता बढ़ें सुविधाएं