तस्वीर की आस न होती

तस्वीर की आस न  होती

कभी हमको तेरी आस न होती

तो जिंदगी कभी उदास नहीं होती

हो जाता तेरा दीदार जो एक बार तो

हमको तेरी तस्वीर की आस नहीं होती

सागर की लहरो के विपरीत चलिए

जिंदगी के विपरीत चल कर देखिये

आधिया भी झुक जाएगी तेरे आगे

सफलता का दीपक जला कर तो देख