भारत जैसा धर्मनिरपेक्ष देश कोई और नहीं

नई दिल्ली : भारत मेरा घर है और अपना जीवन निर्वासन में बिताने के अलावा मेरे पास कोई और विकल्प नहीं है। यह बात लोकप्रिय और विवादों में रहीं बांग्लादेशी लेखिका तस्लीमा नसरीन ने कही। दरअसल तस्लीमा नसरीन नईदिल्ली में इंडिया आयडिया काॅन्क्लेव 2016 में भाग लेने पहुंची थी। इस दौरान उन्होंने कहा कि इस माह़द्वीप में भारत एक सच्चा धर्मनिरपेक्ष व सुरक्षित देश है। उनका कहना था कि वे भारत को अपना मानती हैं और वर्ष 1994 से निर्वासित जीवन जी रही हैं।

उन्होंने कहा कि इसके अलावा मेरे पास कोई रास्ता नहीं है। इतना ही नहीं यदि हम सच्चाई कहेंगे तो फिर कट्टरपंथियों और राजनीतिक लोगों के अत्याचार झेलने पड़ेंगे। उन्होंने कट्टरपंथियों की ओर संकेत करते हुए कहा कि उन्हें यह समझना चाहिए कि विभिन्न धर्मों की ही तरह इस्लाम को प्रबुद्धिकरण का सामना करना होगा। दूसरे धर्म अमानवीय, असमान, अवैज्ञानिक और गैर तार्किक पहलुओं पर सवाल उठाकर विभिन्न प्रक्रियाओं का सामना कर रहे हैं।

ISI की अनुमति से ही भारत आते पाकिस्तानी कलाकार

- Sponsored Advert -

Most Popular

- Sponsored Advert -