भारतीय सेना की रक्षा कर रहा देवी माँ का ये मंदिर, हर बम हो जाता है फुस्स

भारतीय सेना की रक्षा कर रहा देवी माँ का ये मंदिर, हर बम हो जाता है फुस्स

देश की सीमा पर लाखों जवान हमारी रक्षा करने के लिए हमेशा तैनात रहते है तब जाकर हम आज सुकून की जिंदगी जी रहे है. लेकिन आज हम आपको एक ऐसे मंदिर के बारे में बता रहे हैं जो हमेशा ही भारतीय सेना की हिफाजत करता है. ये मंदिर राजस्थान के जैसलमेर से 130 किलोमीटर दूर तनोट में स्थित है. कहा जाता है कि इस मंदिर में कुछ ऐसी शक्तियां मौजूद हैं जो हमारे देश के सैनिकों की रक्षा करती हैं. साल 1965 में पाकिस्तान की सेना ने इस इलाके में करीब 3000 से ज्यादा बम बरसाए थे और तब हर जगह तबाही मची थी लेकिन इस मंदिर को कोई नुक्सान नहीं पंहुचा था.

स्वतंत्रता दिवस : देशभक्ति के रंग में रंगे इन SMS को शेयर कर मनाए आजादी का जश्न

कहा जाता है कि इस मंदिर के आसपास जितने भी बम गिरे वो सभी फुस्स हो गए थे. साल 1971 में हुए भारत-पाकिस्तान के युद्द के दौरान भी इस मंदिर के आस-पास करीब साढ़े चार सौ बम गिराए गए थे लेकिन सभी बम बेअसर हुए थे. इस मंदिर में भारतीय सेना ने एक विजय स्तंभ भी बनाया गया है जहां हर साल ही शहीद जवानों की याद में उत्सव भी मनाया जाता है. इतना ही नहीं सभी बम को मंदिर परिसर के म्यूजियम में भी रखा गया है.

Independence 2018 : तिरंगा फहराने से पहले जान लें यह जरुरी नियम

मंदिर का पूरा जिम्मा सीमा सुरक्षा बल ने ही ले रखा है. इस मंदिर में हिंगलाज माता विराजित है जिन्हे आवड़ माता के नाम से भी जाना-जाता है. आवड़ माता की एक शक्तिपीठ पड़ोसी मुल्क पाकिस्तान में भी मौजूद है. मंदिर के पट पर पूरी कहानी भी लिखी हुई है. हिंगलाज माता ही हर युद्ध के समय हमारे देश के सैनिकों की मदद करती है और युद्ध जीतने के बाद सभी सैनिक माता के मंदिर में आशीर्वाद लेने आते हैं.

देख भाई देख...

स्वतंत्रता दिवस पर पाक में पसरा मातम, हिंदुस्तान ने मार गिराए 2 पाकिस्तानी सैनिक

VIdeo: सरोद पर राष्ट्रगान की यह धुन आपका भी मन मोह लेगी

स्वतंत्रता दिवस पर गूगल-यूट्यूब पर भी देख सकेंगे पीएम मोदी का भाषण

 

?