तमिलनाडु की सियासत का एक बड़ा फैसला आज

तमिलनाडु की सियासत का एक बड़ा फैसला आज

एआईएडीएमके की पलानीस्वामी सरकार से टी. टी. दिनाकरण गुट के 18 विधायकों ने पिछले साल समर्थन वापस ले लिया था मगर उन पर फैसला आज आना है. लगभग साल भर पहले इन विधायकों को विधानसभा स्पीकर ने अयोग्य घोषित कर दिया था. जिसके बाद इन्होंने मद्रास हाईकोर्ट की शरण ली थी. अयोग्य घोषित किए गए विधायकों के नाम थंगा तमिल सेलवन, आर मुरुगन, मारियुप कन्नेडी, के काथीरकमू, सी जयंती पद्मनाभन, पी पलनिअप्पन, वी सेंथिल बालाजी, सी मुथैया, पी वेत्रिवेल, एन जी पार्थीबन, एम कोठांदपानी, टीए एलुमलै, एम रंगासामी, आर थंगादुराई, आर बालासुब्रमणी, एसजी सुब्रमण्यम, आर सुंदरराज और के उमा महेरी हैं.आज इस मामले में फैसला होगा जो राज्य सरकार पर बड़ा असर डाल सकता है.  

फैसले से पहले मुख्यमंत्री पलानीस्वामी के घर सूबे के बड़े नेताओं का जमावड़ा हुआ है. संभावित समीकरण की बात करे तो -
-अगर कोर्ट स्पीकर के फैसले को बदलता है तो फ्लोर टेस्ट की सम्भावना है. 
- ऐसे में ई. पलानीस्वामी को मुश्किल 
- कुछ AIADMK विधायक अपना पाला बदल सकते हैं.
-अगर कोर्ट स्पीकर के फैसले का साथ देता है तो सभी 18 विधानसभाओं पर चुनाव हो सकता है.
-अगर दो जजों की बेंच कोई फैसला नहीं निकाल पाती है तो ये केस तीन जजों के बेंच के पास जाएगा.

तमिलनाडु विधानसभा आकड़ों में -
कुल संख्या - 234
डीएमके - 98
टीटीवी - 1
एआईएडीएमके - 114
18 विधायक (जिनपर मद्रास हाईकोर्ट फैसला करेगा)

शशिकला के भाई ने बनाई खुद की राजनीतिक पार्टी

कैमरे से फोटो क्लीक की, लाइट आई और जल गया गया युवक

कमल हासन और कुमारस्वामी की बैठक, इन मुद्दों पर हुई चर्चा

पीएम ने पूछा,क्या मुझे डोसा खाने को मिलेगा