कोरोना की दवा के नाम पर नकली स्वास्थ्यकर्मी दे दी जहर की गोलियां, माँ-बेटी सहित 3 की मौत

चेन्नई: तमिलनाडु में कोरोना की दवा के नाम पर जहर की गोलियां देने का मामला प्रकाश में आया है, जिसमें तीन लोगों की जान चली गई है, वहीं एक की हालत नाजुक बनी हुई है. ये मामलों उधार के पैसों से संबंधित है. जिस परिवार को जहर दिया गया उसने किसी को उधार दिया था, जब ये लोग पैसे वापस मांग कर रहे थे, तो उसने ही ऐसा किया. प्राप्त जानकारी के अनुसार, यह घटना तमिलनाडु के इरोड की है.

इरोड में 72 वर्षीय करुप्पनकाउंडर नामक शख्स ने कुछ महीने पहले आर कल्याणसुंदरम नामक व्यक्ति को 15 लाख रुपये उधार दिए थे. अब आवश्यकता पड़ने पर कल्याणसुंदरम से पैसे वापस मांगे जा रहे थे. पैसे ना चुका पाने पर कल्याणसुंदरम ने करुप्पनकाउंडर और उसके परिवार को मार डालने की साजिश रची. कल्याणसुंदरम ने सबरी नामक व्यक्ति के साथ मिलकर एक प्लान बनाया. इसमें सबरी को स्वास्थ्य विभाग का कर्मचारी बनाकर करुप्पनकाउंडर के घर भेजा. 26 जून को वहां जाकर सबरी ने करुप्पनकाउंडर से पूछा कि परिवार में किसी को खांसी, जुकाम आदि समस्या तो नहीं है. इसके बाद सबरी ने जाते-जाते जहर की कुछ गोलियां करुप्पनकाउंडर को दे दी. कहा गया कि ये इम्यूनिटी बूस्ट करने की दवा है जो कोरोना से बचाती है.

सबरी के जाने के बाद करुप्पनकाउंडर, उनकी पत्नी, बेटी और घर में काम करने वाली मेड ने उस दवा का सेवन कर लिया. जिसके बाद चारों बेहोश हो गए. पड़ोसियों ने जल्द उनको अस्पताल पहुंचाया. अस्पताल में करुप्पनकाउंडर की पत्नी मल्लिका, बेटी दीपा और मेड कुप्पल की मौत हो गई. फिलहाल करुप्पनकाउंडर की हालात भी नाजुक है.

2030 तक दुनिया का शीर्ष पोर्ट ऑपरेटर बनना है अडानी पोर्ट्स का लक्ष्य: रिपोर्ट

अब तक 8 रूपये से अधिक महंगा हुआ पेट्रोल-डीजल का भाव, जानिए आज का दाम

जानिए आज क्या है सोना-चांदी वायदा की कीमतें

Most Popular

- Sponsored Advert -