ISMSICS के सेमिनार में हुई मोतियाबिंद पर चर्चा, मंत्री नीरज कुमार भी हुए शामिल

Jul 21 2019 05:22 PM
ISMSICS के सेमिनार में हुई मोतियाबिंद पर चर्चा, मंत्री नीरज कुमार भी हुए शामिल

पटना: आईएसएमएसआईसीएस बिहार चैप्टर के इंस्टालेशन की पहली सालगिरह पर सेमिनार का आयोजन किया गया, इस कार्यक्रम का उद्घाटन बिहार सरकार में कैबिनेट मंत्री नीरज कुमार ने किया। वहीं, इस सेमिनार में देश के अलग अलग प्रदेशों से आए 100 से अधिक डक्टरों ने भाग लिया। पटना के मशहूर नेत्र सर्जन डॉ सुनील ने कहा कि मोतियाबिंद का ऑपरेशन मशीन द्वारा किया जाता है, जिसमें खर्च भी अधिक है। 

उन्होंने आगे कहा कि लेकिन अब नई तकनीक से हाथ से ही सफल ऑपरेशन बेहद कम पैसे में मुमकिन है और इसी पर चर्चा हो रही है। वहीं, बिहार सरकार के कैबिनेट मंत्री नीरज कुमार ने सेमिनार में कहा की मोतियाबिंद पर जो विचार विमर्श चल रहा है और इस बदले परिवेश में आज बीमारी जो भी है, वह एक चुनौती की तरह है। बिहार में जिस वक़्त मेडिकल कॉलेज खुलना था तब नहीं खुला। 

बिहार के सीएम नीतीश कुमार बने तो राज्य में विकास हुआ, बिहार में 11 मेडिकल कॉलेज खुले है। जिस तरह जलवायु परिवर्तन हो रहा है, इस पर हमें धयान देने की जरूरत है, क्योंकि इसका असर नई पीढ़ी पर पड़ रहा है। आज का छोटा सा बच्चा भी दिन भर मोबाइल पर लगा रहता है। नीरज कुमार ने कहा है कि हमने डॉक्टरों से कहा कि जो भी मेडिकल व्यवस्था या हेल्थ के लिए आवश्यक होगा, उसे बिहार सरकार पूरा करेगी क्योंकि स्वास्थ्य सरकार की प्रथमिकता है।

पिछले 11 वर्षों से नहीं बढ़ी है मुकेश अंबानी की सैलरी, प्रतिमाह इतना लेते हैं वेतन

लगातार दूसरे दिन स्थिर रहे पेट्रोल के दाम, डीज़ल में भी कोई बदलाव नहीं

हिमा दास ने एक महीने में जीता 5वां गोल्ड मेडल