‘मुझसे गंदी बात करो, नहीं तो…’, बीवी की सहेलियों के साथ शख्स ने की गंदी हरकत
‘मुझसे गंदी बात करो, नहीं तो…’, बीवी की सहेलियों के साथ शख्स ने की गंदी हरकत
Share:

इंदौर: मध्य प्रदेश की इंदौर पुलिस ने ऐसे व्यक्ति को गिरफ्तार किया है जो AI तकनीक के माध्यम से पहले लड़कियों के अश्लील फोटो बनाता। फिर उन्हें सोशल मीडिया पर शेयर करने की धमकी देकर ब्लैकमेल करता। अपराधी नगर पालिका निगम में कम्प्यूटर आपरेटर है। पीड़ित महिलाओं में अधिकतर अपराधी की बीवी की सहेलियां हैं।

पुलिस ने बताया, आरोपी यश भावसार मध्य प्रदेश के शाजापुर नगर परिषद में कंप्यूटर ऑपरेटर के रूप में काम करता था। उसने एआई-आधारित ऐप का उपयोग करके इन महिलाओं की डीपफेक या मॉर्फ्ड तस्वीरें बनाईं, जिनके पास इंस्टाग्राम अकाउंट हैं। फिर उसने इंस्टाग्राम पर एक फर्जी पहचान के साथ अपना एक अकाउंट बनाया। इन अश्लील फोटोज को महिलाओं को भेजने लगा। इतना ही नहीं उसने उन लड़कियों को धमकी दी कि यदि उन्होंने उसे ब्लॉक किया तो वो उन अश्लील फोटो को सोशल मीडिया पर वायरल कर देगा। एक पीड़िता ने बताया, आरोपी उससे जबरन गंदी-गंदी बातें करना चाहता था। बात न करने पर उसे बदनाम करने की धमकी देता था। पीड़ित लड़कियों की शिकायत पर पुलिस ने अपराधी के खिलाफ मुकदमा दर्ज करते हुए गिरफ्तार कर लिया है।

डीसीपी ने कहा कि पीड़ित लड़कियों में अधिकतर कॉलेज की छात्राएं हैं। उनमें से कई यश भावसार की पत्नी की दोस्त भी हैं। वो उन लड़कियों को पहले से जानता है। उन पर उसकी बुरी नजर पहले से थी। पुलिस ने अपराधी का मोबाइल फोन एवं लैपटॉप जब्त कर लिया है। इस मामले में आगे की तहकीकात जारी है। पुलिस यह जानने का प्रयास कर रही है कि आरोपी ने इससे पहले इस प्रकार के अपराध किए हैं या नहीं। इससे पहले भी डीपफेक फोटो से ब्लैकमेलिंग के ढेरों घटनाएं सामने आ चुकी हैं। अप्रैल 2024 में उत्तर प्रदेश की राजधानी लखनऊ में एआई की सहायता से ब्लैकमेलिंग का मामला सामने आया था। यहां कमता निवासी ठेकेदार को लोनिंग ऐप का उपयोग भारी पड़ गया था। साइबर जालसाजों ने लोन के रुपये वसूलने के साथ ही एआई की सहायता से पीड़ित के बच्चों की अश्लील फोटो बनाकर ब्लैकमेल करते हुए हजारों रुपये वसूल लिए।

AI का गलत इस्तेमाल कर न्यूड फोटो, वीडियो बनाने वाले अक्सर बच्चों एवं महिलाओं को ही शिकार बनाते हैं। एक्सर्पट्स के अनुसार, वीडियो तैयार करने के लिए कई एंगल के फोटो की आवश्यकता होती है। जबकि, फोटो के लिए केवल एक तस्वीर की जरुरत पड़ती है। सोशल मीडिया से फोटो चोरी करना सबसे आसान तरीका है। रिपोर्ट्स के अनुसार, डीपफेक न्यूड फोटो के उपयोग से बच्चे और महिलाओं को ही ब्लैकमेल की घटनाएं सर्वाधिक हो रही हैं।

प्यार में रोड़ा रहे बाप और भाई को नाबालिग बेटी ने उतारा मौत के घाट, इलाके में मची सनसनी

पुणे पोर्श केस में पुलिस का बड़ा एक्शन, आरोपी के पिता के बाद Bar मालिक और मैनेजर भी हुए गिरफ्तार

'कांग्रेस के शहजादे मोदी की आंखों में आंसू देखना चाहते हैं', PM मोदी ने विपक्ष पर बोला जोरदार हमला

रिलेटेड टॉपिक्स
- Sponsored Advert -
Most Popular
मध्य प्रदेश जनसम्पर्क न्यूज़ फीड  

हिंदी न्यूज़ -  https://mpinfo.org/RSSFeed/RSSFeed_News.xml  

इंग्लिश न्यूज़ -  https://mpinfo.org/RSSFeed/RSSFeed_EngNews.xml

फोटो -  https://mpinfo.org/RSSFeed/RSSFeed_Photo.xml

- Sponsored Advert -