जिसका हिमायती बनकर फिर रहा है पाकिस्तान, अब उसका 'दुश्मन' बना वही तालिबान

इस्लामाबाद: एक ओर पाकिस्तान पूरी दुनिया में अफगानिस्तान की तालिबान सरकार का हिमायती बना फिर रहा है और उसे मान्यता दिलाने के लिए जी जान लगा रहा है, वहीं दूसरी ओर आतंकी संगठन तालिबान और पाकिस्तानी फ़ौज में तकरार शुरू हो गई है. दोनों देशों के बीच बॉर्डर विवाद का मुद्दा गरमाया हुआ है. एक बार फिर तालिबान ने पाकिस्तान की फ़ौज द्वारा डूरंड रेखा पर लगाए गए बाड़े को नष्ट कर दिया है. 

 

सोशल मीडिया पर वायरल हो रहे वीडियो में देखा जा सकता है कि तालिबान के सैनिक दक्षिणी अफगानिस्तान की बॉर्डर पर लगे बाड़े को उखाड़ रहे हैं. पाकिस्तान द्वारा बॉर्डर पर बाड़ लगाए जाने को तालिबान ने एकतरफा और गैर-कानूनी बताया है. तालिबान ने कहा है कि पाकिस्तान के पास अफगानिस्तान की बॉर्डर पर बाड़ लगाने का कोई अधिकार नहीं है. अफगानिस्तान में TOLO News टीवी के वरिष्ठ संवाददाता अब्दुलहक ओमेरी ने तालिबान के रक्षा मंत्रालय के प्रवक्ता का एक वीडिया पोस्ट किया है, जिसमें वो बाड़ा लगाने को लेकर पाकिस्तान पर जुबानी हमले कर रहे हैं. प्रवक्ता ने कहा कि पाकिस्तान को डूरंड बॉर्डर पर बाड़ा लगाकर दोनों ओर की ट्राइब्स को अलग करने का कोई अधिकार नहीं है.

 

तालिबान द्वारा पाकिस्तान की ओर से की गई बाड़ाबंदी को उखाड़ने के पीछे पूर्व उप-राष्ट्रपति अमरुल्लाह सालेह ने एक अलग ही कारण बताई है. उनका मानना है कि ये पाकिस्तान की खुफिया एजेंसी ISI का कारनामा है, ताकि अफगानिस्तान के लोग तालिबानी सरकार को अपना सबसे बड़ा हितैषी समझें.

इरदुगान की गुमराह नीति: तुर्की की लीरा ने दो दशकों में अपना सबसे खराब प्रदर्शन किया

अफगानिस्तान: 10000 लोग COVID-19 से संक्रमित, 650 मौतें

फ्रांस में आर्क डी ट्रायम्फ से यूरोपीय संघ का झंडा हटाया गया

 

- Sponsored Advert -

Most Popular

- Sponsored Advert -