'इस्लाम महिलाओं को इसकी इजाजत नहीं देता..', तालिबान ने महिला खेलों पर लगाई पाबन्दी

मेलबर्न: ऑस्ट्रेलिया के SBS टीवी ने आतंकी संगठन तालिबान के एक प्रवक्ता के हवाले से कहा है कि उन्होंने महिला खेलों खासकर महिला क्रिकेट पर रोक लगा दी है. तालिबान के सांस्कृतिक आयोग के उप प्रमुख अहमदुल्लाह वासिक के हवाले से SBS टीवी ने कहा कि, ‘क्रिकेट में ऐसी स्थिति होती हैं कि मुंह और शरीर ढका नहीं जा सकता. इस्लाम महिलाओं को ऐसे दिखने की अनुमति नहीं देता.’

उसने कहा कि, ‘यह मीडिया का युग है, जिसमें तस्वीरें और वीडियो देखे जाएंगे. इस्लाम और इस्लामी अमीरात महिलाओं को क्रिकेट या ऐसे खेल खेलने की इजाजत नहीं देता जिसमें शरीर दिखता हो.’ उसने कहा कि तालिबान, पुरुष क्रिकेट जारी रखेगा और उसने टीम को नवंबर में ऑस्ट्रेलिया में एक टेस्ट खेलने जाने की अनुमति दे दी है. हालांकि, बाद में क्रिकेट ऑस्ट्रेलिया (CA) ने एक बयान में कहा कि यदि महिला खेलों को लेकर तालिबान के नजरिए संबंधी रिपोर्ट सत्य है, तो 27 नवंबर से होने वाला यह टेस्ट नहीं खेला जाएगा.

बयान में कहा गया है कि, ‘क्रिकेट ऑस्ट्रेलिया विश्वभर में महिला क्रिकेट के विकास को बहुत महत्व देता है. हमारा मानना है कि खेल सबके लिए हैं और प्रत्येक स्तर पर महिलाओं को भी खेलने का समान अधिकार है. यदि अफगानिस्तान में महिला खेलों पर रोक की खबरें सही हैं, तो हम होबर्ट में होने वाले इस टेस्ट की मेजबानी नहीं करेंगे.’ बता दें कि इससे पहले ऑस्ट्रेलिया के खेलमंत्री रिचर्ड कोलबेक ने भी अंतरराष्ट्रीय क्रिकेट परिषद (ICC) से इस संबंध में कार्रवाई की मांग की थी. 

जर्मनी में बिना टीकाकरण वाले लोग अभी भी बहुत अधिक हैं: स्वास्थ्य मंत्री

पाक सीमा के पास आपात लैंडिंग फील्ड का उद्घाटन करने पहुंचे राजनाथ सिंह और गडकरी

अफगानियों के स्वास्थ्य पर ध्यान देना चाहिए: पाकिस्तान के विदेश मंत्री

- Sponsored Advert -

Most Popular

- Sponsored Advert -