क्या आप भी बूढ़े हो रहे हैं ?

जो लोग उम्र के उस दौर में है जहां बुढ़ापा और जवानी आकर मिलते है तो वो अक्सर लोगों से सुनते है की अब तो आपकी उम्र हो गयी है. उम्र बढ़ना एक प्रक्रिया है जिससे हम सभी गुजरते हैं। आमतौर पर सफेद होते बाल और चेहरे पर आती झुर्रियों को ही लोग बुढापे के लक्षण मानते हैं। मगर बालों का सफेद होना ही बुढ़ापा नहीं है।

बुढापे के और भी कई लक्षण और संकेत हैं जो हम देख नहीं पाते हैं। मोतियाबिंद या ग्लूकोमा उम्र बढ़ने के साथ परेशान करने लगती है। नतीजा लोगों के देखने की क्षमता कमजोर होने लगती है। कानों से सुनने की क्षमता भी कम होने लगती है। दांतो का टूटना और मसूढ़ों में दर्द के साथ और भी कई परेशानी है जो उम्र बढ़ने के साथ होने लगती है। दांतो का एनामेल झड़ने लगती है और मसूढ़े उखड़ने लगते हैं। उम्र के साथ ही मांसपेशियों का वजन भी कम होने लगता है और शरीर में जमा हुई वसा अपना जगह लेना शुरु कर देती है। वसा के जलने के साथ ही शरीर में कैलोरी की कमी भी होने लगती है और पुराने वजन को पाने के लिए आपको बहुत सारे कैलोरी की जरुरत होती है जो आपका शरीर इजाजत नहीं देता है।

उम्र बढ़ने के साथ ही यौन शक्ति भी कम होने लगती है। आपके सेक्स की आदतें और जरुरत में कमी और उसके तरीके में बदलाव आने लगते हैं। पुरुषों में स्खलन नहीं हो पाता है और औरतों के जननांग में जो द्रव होती है वह सूखने लगती है। मेनोपाज और बिस्तर गीला हो जाने की शिकायत उम्र बढ़ने के साथ होने लगती है। पाचन तंत्र सही ढ़ंग से काम नहीं कर पाती है। उम्र बढ़ने के साथ भूलने की बीमारी भी शुरु हो जाती है। यहां तक कि कई लोग अपने परिवार के लोगों के नाम और चेहरे भी भूलने लगते हैं।

 

- Sponsored Advert -

Most Popular

- Sponsored Advert -