Swiggy पर कोरोना की मार, 1100 कर्मचारी किए जाएंगे निष्काषित

नई दिल्ली: पूरे देश में कोरोना संक्रमण के मामलों में तेजी से हो रहे बढ़ोतरी के साथ ही केंद्र की नरेंद्र मोदी सरकार ने लॉकडाउन को 31 मई तक के लिए आगे बढ़ाने का फैसला किया है। इसके साथ ही खबर है कि देश में ऑनलाइन फूड डिलवरी करने वाली दो बड़ी कंपनी ने बड़ी तादाद में कर्मचारियों की छंटनी करने का निर्णय लिया है।

मिल रही जानकारी के अनुसार, फूड डिलीवरी कंपनी स्विगी ने सोमवार को कहा है कि कंपनी अपने यहां काम करने वाले विभिन्न विभाग के लगभग 1100 कर्मचारियों की छंटनी करेगी। आपको बता दें कि इस कंपनी ने अपने यहाँ काम करने वाले कुल कर्मचारियों में से 14 फीसद स्टाफ को बाहर का रास्ता दिखाने का फैसला लिया है। कंपनी का कहना है कि कोरोना महामारी के कारण उनके बिजनेस को भारी नुकसान हुआ है, ऐसे में कर्च घटाने के लिए यह फैसला लेना आवश्यक हो गया है।

एनडीटीवी की रिपोर्ट के अनुसार, कंपनी ने अपने कर्मचारियों को 18 मई को ईमेल भेजा था, जिसमे कंपनी ने लिखा था कि, 'स्विगी के लिए आज सबसे दुखद दिनों में से एक है क्योंकि हमें एक दुर्भाग्यपूर्ण कार्रवाई से गुजरना है।' उन्होंने यह भी कहा कि कंपनी ने पहले ही कोरोना महामारी के प्रकोप की शुरुआत के बाद से अस्थायी या स्थायी रूप से अपनी रसोई सुविधाओं को बंद करना आरम्भ कर दिया था। अब आने वाले दिनों में हमें अपने 1100 कर्मचारियों को काम से निष्काषित करना होगा। 

लॉकडाउन-4 में सोने ने रचा इतिहास, चांदी में भी जबरदस्त उछाल

OPPO मोबाइल फैक्ट्री के 6 कर्मचारी निकले कोरोना पॉजिटिव, फैक्ट्री सील

सेंसेक्स में 898 अंकों की भारी गिरावट, निफ्टी ने भी गंवाई शुरुआती बढ़त

 

- Sponsored Advert -

Most Popular

- Sponsored Advert -