स्वामी दयानंद सरस्वती महाराज समाधि में विलीन

Sep 25 2015 03:22 PM
स्वामी दयानंद सरस्वती महाराज समाधि में विलीन

ऋषिकेश : प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी के गुरू स्वामी दयानंद सरस्वती आज समाधि में विलिन हो गए। संतों की परंपरा और विभिन्न विधानों के अंतर्गत उन्हें समाधि दे दी गई। ऋषिकेश में गंगा के किनारे भू-समाधि दे दी गई। उल्लेखनीय है कि स्वामी जी जब अस्पताल में थे तो अंतिम दिनों में वे गंगा के दर्शन करना चाहते थे। स्वामी जी के समाधि में विलीन होने के दौरान भारतीय जनता पार्टी के राष्ट्रीय महासचिव राम माधव, विश्व हिंदू परिषद के नेता अशोक सिंघल आदि उपस्थित थे। महासमाधि से पहले प्रातः 8 बजे रूद्राभिषेक किया गया।

इसके बाद समाधि की प्रक्रिया प्रातः 10 बजे प्रारंभ हुई। बता दे कि लंबी बीमारी के बाद कारण उनका निधन हुआ । 11 सितंबर को अपने बीमार गुरू से मिलने वे ऋषिकेश पहुंचे। आश्रम के ट्रस्टी स्वामी शांतात्मानंद सरस्वती द्वारा कहा गया कि भू-समाधि हेतु दयानंद आश्रम में गंगा नदी की ओर उन्हें समाधिस्थ किया गया। उल्लेखनीय है कि स्वामी जी का उपचार किया जा रहा था। मगर बुधवार को उनका निर्वाण हो गया। जिसके बाद स्वामी जी को समाधि दी गई।