इंदौर ने स्वच्छता में लगाया पंच, वाराणसी को मिला ये खिताब

इंदौर: ‘स्वच्छ सर्वेक्षण-2021’के विजेताओं की घोषणा की है. मध्य प्रदेश का इंदौर शहर निरंतर पांचवीं बार प्रथम स्थान पर रहा. राष्ट्रपति रामनाथ कोविंद ने आज विजेताओं को सम्मानित किया. स्वच्छ सर्वेक्षण-2021 में दूसरे स्थान पर सूरत (गुजरात) और तीसरे स्थान पर विजयवाड़ा (आंध्र प्रदेश) है. स्वच्छ भारत मिशन-शहरी 2.0 के अंतर्गत भारत को कचरा-मुक्त बनाने के पीएम नरेंद्र मोदी के दृष्टकोण की तर्ज पर कचरा-मुक्त शहरों की श्रेणी के अंतर्गत प्रमाणित शहरों को इस समारोह में सम्मान दिया गया.वहीं, केंद्र सरकार के वार्षिक स्वच्छता सर्वेक्षण में सबसे स्वच्छ गंगा शहर की श्रेणी में यूपी के वाराणसी को पहला स्थान दिया गया है.वहीं कार्यक्रम में केंद्रीय आवासन एवं शहरी कार्य मंत्रालय की पहल ‘सफाईमित्र सुरक्षा चैलेंज’ के अंतर्गत बेहतरीन प्रदर्शन करने वाले शहरों को मान्यता देते हुए सफाई कर्मचारियों के योगदान की भी बढ़ाई की है. इस बार के स्वच्छ सर्वेक्षण में 4320 शहरों-नगरों को शामिल किया गया है जो विश्व का सबसे बड़ा स्वच्छता सर्वेक्षण है.

पांच करोड़ से अधिक फीडबैक आए: वर्ष  2016 में इस कदम की शुरुआत पर सिर्फ 73 प्रमुख शहरों को सर्वेक्षण में शामिल किया जा चुका था. इस वर्ष के सर्वेक्षण की सफलता इस बार नागरिकों से मिले फीडबैक की तादाद के आधार पर आंकी जाती है. इस बार 5 करोड़ से अधिक फीडबैक सामने आए. यह संख्या  बीते वर्ष 1.87 करोड़ थी.

विभाग ने ‘स्वच्छ सर्वेक्षण 2021’ के बारे में कहा कि जमीनी स्तर पर राज्यों एवं शहरों के प्रदर्शन में बहुत ज्यादा सुधार देखने को मिला है. उन्होंने बोला है कि मिसाल के तौर पर 6 राज्यों और 6 केंद्रशासित प्रदेशों ने जमीनी स्तर पर अपने प्रदर्शन में 5 से 25 फीसद तक सुधार किया है.

न्यूज़ीलैंड के खिलाफ 'जर्सी पर टेप' चिपकाकर क्यों खेलने उतरे ऋषभ पंत ?

दिल्ली की आबोहवा में नहीं हो रहा कोई भी सुधार, संकट में लोगों की जान

कृषि कानून: सिंघु बॉर्डर पर होने वाली किसानों की बैठक टली, तय होनी थी आगे की रणनीति

- Sponsored Advert -

Most Popular

- Sponsored Advert -