सुषमा स्वराज के संसदीय क्षेत्र में बढ़ रहा कुपोषण

विदिशा: विदेश मंत्री सुषमा स्वराज के संसदीय क्षेत्र विदिशा में बच्चों के हाल बेहाल है यहाँ 5 वर्ष तक के 40.7 प्रतिशत बच्चों का वजन कम है जो की कुपोषित पाय गए है| 

राष्ट्रीय परिवार स्वास्थ्य सर्वेक्षण-4 में चौका देने वाले आंकड़े सामने आय है. यहाँ लगभग 37.2 प्रतिशत बच्चे ठिगने हैं। संस्था विकास संवाद ने इन आंकड़ों का विश्लेषण किया है. सर्वे के मुताबिक जन्म के तुरंत बाद 36.7 प्रतिशत बच्चों को ही मां का दूध मिल पाता है।

करोड़ों रुपए खर्च करने के बावजूद जिले में कुपोषण के आंकड़े घटने की बजाय बढ़ते हुए दिखाई दे रहे हैं. गंजबासौदा ब्लॉक में सहरिया आदिवासियों के बच्चों में कुपोषण के मामले तेजी से बढ़ रहे हैं. यहाँ आंगनबाड़ियों पर हर साल 50 करोड़ खर्च होता है फिर भी उसका कोई अच्छा परिणाम सामने नहीं आया|

स्वास्थ्य मानकों में जिला पिछड़ा हुआ है. एक ओर यहां उत्पादन भरपूर है लेकिन स्वास्थ्य के मामले में यहां भी पिछड़े जिलों जैसे ही हालात है. राष्ट्रीय परिवार स्वास्थ्य सर्वेक्षण के तहत 17 राज्यों के आंकड़े जारी किए गए हैं. इनमें मध्यप्रदेश का नंबर दूसरे स्थान पर है।

- Sponsored Advert -

Most Popular

- Sponsored Advert -