131 प्लाट, 30 फ्लैट, 30 मकान..., लालू परिवार के पास कहाँ से आई इतनी संपत्ति ?

पटना: राष्ट्रीय जनता दल (RJD) के राष्ट्रीय अध्यक्ष और पूर्व सीएम लालू प्रसाद यादव की मुश्किलें एक बार फिर बढ़ती नज़र आ रहीं हैं. केंद्रीय जांच ब्यूरो (CBI) ने शुक्रवार की सुबह लालू यादव के 17 ठिकानों पर रेड मारी. CBI की इस कार्रवाई के बाद अब जुबानी जंग भी तेज होती दिखाई दे रही है. बिहार के पूर्व उपमुख्यमंत्री और भाजपा के राज्यसभा सदस्य सुशील मोदी ने लालू यादव और उनके परिवार पर निशाना साधा है.

सुशील मोदी ने आगे कहा है कि लालू यादव का ये मामला जमीन के बदले नौकरी देने से जुड़ा हुआ है. सबसे पहले लालू यादव की ही पार्टी के शिवानंद तिवारी और ललन सिंह ने तत्कालीन पीएम और कांग्रेस नेता मनमोहन सिंह के समक्ष ये मुद्दा उठाया था. उन्होंने कहा कि तब सरकार में लालू यादव मंत्री थे और इस वजह से मामले की तफ्तीश शुरू नहीं हो पाई थी. सुशील मोदी ने कहा कि लालू यादव ने रेलवे के दो चतुर्थ श्रेणी कर्मचारियों को जमीन के एवज में नौकरी दिए जाने का मामला सामने आया था. उन्होंने कहा कि इसके बाद 2017 में मैंने सबूत के साथ इस मुद्दे को उठाया था, जिसके बाद CBI ने जांच शुरू की थी. सुशील मोदी ने कहा कि शायद अब CBI को और अधिक जानकारी मिली होगी, इसलिए ये कार्रवाई हो रही है.

इसके साथ ही भाजपा नेता ने लालू यादव और उनके परिवार के अन्य लोगों को भी घेरते हुए कहा कि लालू यादव और उनके परिवार के पास 131 भूखंड और 30 से अधिक मकान और करीब इतने ही फ्लैट हैं. सुशील मोदी ने कहा कि क्या लालू यादव और उनका परिवार ये बता सकता है कि 35 वर्षों के सियासी कॅरियर में उनके पास इतनी संपत्ति कहां से आई.

'फर्जी था हैदराबाद एनकाउंटर केस..', सुप्रीम कोर्ट के पैनल ने कहा- पुलिसकर्मियों पर चले हत्या का मुकदमा

कांग्रेस के चिंतन शिविर से घबराकर भाजपा ने जयपुर में आयोजित किया अपना कार्यक्रम- अशोक गहलोत

कांग्रेस से भाजपा में आए इस दिग्गज नेता को गृह मंत्रालय ने दी X केटेगरी सुरक्षा

 

- Sponsored Advert -

Most Popular

- Sponsored Advert -