बिहार में 11 नए मेडिकल कॉलेज खोलेगी सरकार, सीधे कैंपस से होगी डॉक्टरों की भर्ती - सुशिल मोदी

बिहार में 11 नए मेडिकल कॉलेज खोलेगी सरकार, सीधे कैंपस से होगी डॉक्टरों की भर्ती - सुशिल मोदी

पटना: बिहार के डिप्टी सीएम सुशील कुमार मोदी ने कहा है कि अगले एक वर्ष में डॉक्टरों के रिक्त पदों को भरने के लिए मेडिकल कॉलेज परिसर से सीधे नियुक्तियां की जाएंगी. 'इंडियन कॉलेज ऑफ कार्डियोलॉजी' के वार्षिक सम्मेलन के उद्घाटन समारोह के बाद अपने संबोधन में सुशील मोदी ने कहा कि राज्य में चिकित्सकों, नर्सो और पारा मेडिकल स्टाफ की भारी कमी है. 

मोदी ने इसके लिए पूर्व की सरकारों को दोषी ठहराते हुए कहा कि साल 2005 के पहले की सरकारों ने अपने शासन काल में सरकारी क्षेत्र में एक भी नया मेडिकल, नर्सिग कॉलेज नहीं खोला. जबकि मौजूदा एनडीए सरकार राज्य में 11 नए मेडिकल कॉलेज खोलने जा रही है. इस अकादमिक सत्र से बिहार के मेडिकल कॉलेजों में तक़रीबन 1400 छात्रों का नामांकन होगा. 

मोदी ने कहा कि तमिलनाडु में जहां 49 मेडिकल कॉलेज और 253 लोगों पर एक चिकित्सक हैं, वहीं केरल में 34 मेडिकल कॉलेज और 535 पर एक चिकित्सक, कर्नाटक में 57 मेडिकल कॉलेज और 507 लोगों पर एक डॉक्टर, जबकि बिहार में महज 13 मेडिकल कॉलेज और 3207 लोगों पर एक डॉक्टर हैं, जबकि वर्ल्ड हेल्थ ऑर्गनाइजेशन (डब्ल्यूएचओ) के मानक के मुताबिक, प्रति 1000 लोगों पर एक डॉक्टर होना चाहिए. दिल्ली में एक हजार लोगों पर तीन डॉक्टर हैं. 

जम्मू कश्मीर: महबूबा की केंद्र को चेतावनी, कहा- सरकार जो कर रही है उसके परिणाम खतरनाक होंगे...

सीएम योगी की उपस्थिति में रिक्शा चालकों ने ली भाजपा की सदस्यता

बिहार मॉब लिंचिंग पर बोले शाहनवाज़ हुसैन, कहा- पूरी ताकत से काम कर रही राज्य सरकार