मनमोहन सिंह और तेजस्वी पर मोदी का तीखा प्रहार

पटना: कर्नाटक चुनाव को लेकर बिहार के उपमुख्यमंत्री सुशील कुमार मोदी ने कांग्रेस पर निशाना साधा है, उन्होंने कहा है कि जब कर्नाटक की जनता ने कांग्रेस के धर्म के नाम पर लोगों को बांटकर सत्ता पाने की कोशिशों को पहचानते हुए उसे नकार दिया , तो अब कांग्रेस इसके लिए ईवीएम को दोष दे रही है. वहीं उन्होंने पूर्व पीएम मनमोहन सिंह को भी आड़े हाथों लेते हुए कहा कि जब आपकी पार्टी के नेता ने राज्यपाल को खुले-आम चेतावनी दी है कि अगर उन्हें अगर राज्यपाल ने सरकार बनाने के लिए आमंत्रित नहीं किया तो खून खराबा हो जाएगा, क्या आपको यह भाषा अभद्र नहीं लगती ? क्या आप इस पर राष्ट्रपति को चिट्ठी नहीं लिखेंगे ? 

सुशिल मोदी ने राजद अध्यक्ष लालू के बेटे तेजस्वी यादव पर भी बयान दिया, उन्होंने कहा कि बेनामी सम्पत्ति के चलते सत्ता गंवाने वाले लोग कर्नाटक से अपनी तुलना क्यों कर रहे हैं? सुशिल मोदी ने कहा कि 2015 में जब बिहार में पूर्व गठबंधन को स्पष्ट बहुमत मिला था, तब राज्यपाल ने उसके पहले से घोषित नेता को सरकार बनाने के लिए बुलाने में कोई देर नहीं की थी. लेकिन वही गठबंधन जब राजद नेताओं पर लगे भ्रष्टाचार के आरोपों के कारण 2017 में टुटा,  तब भी राज्यपाल ने विवेक-सम्मत निर्णय कर संविधान की रक्षा की थी.

बता दें कि बिहार में प्रतिपक्ष के नेता तेजस्वी यादव ने आरोप लगाया था कि बीजेपी कर्नाटक में हॉर्स ट्रेड्रिंग को बढ़ावा दे रही है. उन्होंने कर्नाटक में मचे सियासी घमासान पर बुधवार को कहा कि बीजेपी लोकतंत्र में एक ख़तरनाक परिपाटी स्थापित कर रही है. हर मामले में चित भी इनका पट भी इनका. अगर सबसे बड़ी पार्टी को कर्नाटक के राज्यपाल सरकार बनाने के लिए आमंत्रित करते हैं तो वह राष्ट्रपति से एक अनुरोध करना चाहते हैं. उन्होंने राष्ट्रपति से मांग की कि कर्नाटक की तर्ज पर बिहार में सबसे बड़ी पार्टी को सरकार बनाने का मौका दिया जाए. 

कुमारस्‍वामी ने कहा, कर्नाटक में राज्‍यपाल ने केंद्र से मिलकर गुजराती बिजनेस किया

सीएस पिटाई मामले में केजरीवाल से होगी पूछताछ

बंगला बचाने के लिए मुलायम योगी के घर पहुंचे

 

- Sponsored Advert -

Most Popular

- Sponsored Advert -