लालू के चारा घोटाले के खिलाफ उठाई थी आवाज, नीतीश कुमार की सरकार में मिला सबसे बड़ा सम्मान

लालू के चारा घोटाले के खिलाफ उठाई थी आवाज, नीतीश कुमार की सरकार में मिला सबसे बड़ा सम्मान

आज यानी 5 जनवरी सुशील कुमार मोदी अपना जन्मदिन मना रहे हैं. सुशील कुमार मोदी राजनितिक जगत का जाना पहचाना नाम हैं. बिहार की राजनति में उनका सबसे अधिक योगदान रहा हैं. राजनितिक के इस अनुभवी नेता का जन्म 5 जनवरी 1952 को हुआ था भारतीय जनता पार्टी के राजनीतिज्ञ और बिहार के तीसरे उपमुख्यमंत्री रह चुके हैं. वे बिहार के वित्त मंत्री भी रह चुके हैं. आज इस ख़ास मौके पर उनके जीवन से जुडी कुछ घटना आपके साथ साझा करने वाले हैं. 

अगर बात करे उनके शुरूआती जीवन की तो इनका विद्यालय जीवन पटना के सेंट माइकल स्कूल में बीता. इसके बाद इन्होने कॉलेज की पड़े में बी.एस.सी. की डिग्री बी.एन. कॉलेज, पटना से प्राप्त की. बाद में इन्होने एम.एस.सी. का कोर्स छोड़ दिया और जय प्रकाश नारायण द्वारा चलाये गए आंदोलन में कूद पड़े.1990 में, वह सक्रिय राजनीति में शामिल हो गए और सफलतापूर्वक पटना केंद्रीय विधानसभा (जिसे अब कुम्हार (विधान सभा निर्वाचन क्षेत्र) के रूप में जाना जाता है) से चुनाव लड़ा. 1990 में उन्हें फिर से निर्वाचित किया गया था. 1990 में, उन्हें भाजपा बिहार विधानसभा दल के मुख्य सचेतक बनाया गया था. 1996 से 2004 तक वह राज्य विधानसभा में विपक्ष के नेता थे. उन्होंने पटना हाईकोर्ट में लालू प्रसाद यादव के खिलाफ जनहित याचिका दायर की, जिसे बाद में चारा घोटाले के रूप में जाना जाता था. 

अपने राजनितिक जीवन की शुरुआत में अल्पकालिक नीतीश कुमार सरकार में संसदीय कार्य मंत्री के रूप में सबसे बड़ी सफलता मिली, जिसके बाद फिर कभी उन्होंने पीछे मुड़ कर नहीं देखा समय के साथ राजनीती जगत में आगे बढ़ते चले गए. बता दे की उन्होंने झारखंड राज्य के गठन का समर्थन किया. 2005 में बिहार चुनाव में, एनडीए सत्ता में आया और मोदी को बिहार बीजेपी विधानमंडल पार्टी के नेता चुना गया. उन्होंने बाद में लोकसभा से इस्तीफा दे दिया और बिहार के उपमुख्य मंत्री के रूप में पदभार संभाला. कई अन्य विभागों के साथ उन्हें वित्त पोर्टफोलियो दिया गया था. 2010 में बिहार चुनावों में एनडीए की जीत के बाद, वह बिहार के उप मुख्यमंत्री बने रहे. मोदी ने 2005 और 2010 के लिए बिहार विधानसभा चुनावों में भाजपा के लिए प्रचार करने में समर्थ नहीं हुए.

अमेरिका ने क्यूबा को दिया तगड़ा झटका, इस ताकतवर शख्स पर लगाया प्रतिबंध

योगी आदित्यनाथ ने कांग्रेस की संस्कृति पर उठाया सवाल, आदिवासियों को लेकर लगाया गंभीर आरोप

ट्विटर पर छाया अमेरिका एयर स्‍ट्राइक, अलग-अलग प्रतिक्रियाओं ने गरमाया इंटरनेट