मकर संक्रांति के बाद से शुरू हो जाएंगे आपके अच्छे दिन, कर लें खखोल्क मंत्र का जाप

आप सभी को बता दें कि आज हम आपको एक ऐसे मंत्र के बारे में बताने जा रहे हैं जिसका जाप आप सभी को इस मकर संक्रांति के दिन करना चाहिए. जी हाँ, प्रस्तुत मंत्र सूर्य का दिव्य और चमत्कारी मंत्र है और इस मंत्र को मकर संक्रांति के दिन पढ़ने से हर तरह के कार्य सिद्ध होते हैं इसी के साथ घर में खूब धन धान्या आता है.

मंत्र- 'ॐ नमः खखोल्काय' - आप सभी को बताते हैं इस मंत्र का अर्थ. भगवान सूर्य अपने सारथि 'अरुण' से इस मंत्र के विषय में कहते हैं- हे खगश्रेष्ठ.मेरे मंडल के विषय में सुनो.मेरा कल्याणमय मंडल 'खखोल्क' नाम से विद्वानों के ज्ञान मंडल में और तीनों लोकों में विख्यात है.यह तीनों देवों एवं तीनों गुणों से परे एवं सर्वज्ञ है.यह सर्वशक्तिमान है. 'ॐ' इस एकाक्षर मंत्र में यह मंडल अवस्थित है.कहते हैं जिस तरह घोर संसार-सागर अनादि है ठीक उसी तरह 'खखोल्क' भी अनादि है और संसार-सागर का शोधक है.उन्होंने बताया है कि जैसे व्याधियों की औषधि होती है वैसे ही यह मंत्र संसार-सागर के लिए औषधि है.

उनके अनुसार मोक्ष चाहने वालों के लिए मुक्ति का साधन और सभी अर्थो का साधक है.आप सभी को बता दें कि खखोल्क नाम का यह मंत्र सदैव उच्चारण और स्मरण करने योग्य है और कहा जाता है जिसके हृदय में 'ॐ नमः खखोल्काय' मंत्र स्थित है उसी ने सब कुछ पढ़ा है सुना है और अनुष्ठित किया है, ऐसा समझना चाहिए. वहीं मनीषियों ने इस खखोल्क मंत्र को 'मार्तण्ड' के नाम से प्रतिष्ठापित किया है और इस मंत्र के प्रति श्रद्धानत् होने पर पुण्य प्राप्त होने लगता है.

मकर संक्रांति पर जरूर करें इन सूर्य मन्त्रों का जाप, हर मनोकामना होगी पूरी

मकर संक्रांति पर इन 4 राशियों पर पड़ेगी सूर्य देव की नजर, हो जाएंगे मालामाल

मकर संक्रांति के दिन जरूर करें यह काम, पूरे साल होगी घर में बरकत

- Sponsored Advert -

Most Popular

- Sponsored Advert -