कोरोना को लेकर क्या सोचते हैं अमीर भारतीय ? सर्वे में हुआ हैरान करने वाला खुलासा

गुवाहाटी: कोरोना वायरस के बढ़ते कहर के बीच महामारी के संक्रमण को लेकर रईस भारतीय कम भयभीत हैं। सामाजिक-आर्थिक रुझान को लेकर कराए गए आईएएनएस/सी-वोटर के एक सर्वेक्षण में यह बात सामने आई है। नवीनतम सर्वे से पता चलता है कि महामारी को लेकर लोगों में डर की भावना आने पर सामाजिक आर्थिक प्रगति और शैक्षिक योग्यता के बीच सीधा संबंध है।

खुद या परिजन के कोरोना से संक्रमित होने के सावल के जवाब में उच्च आय समूह के 45.7 फीसद लोगों ने मजबूती के साथ कहा है कि उन्हें ऐसा नहीं लगता, जबकि मध्यम आय समूह (मिडिल इनकम ग्रुप) में यह आंकड़ा कुछ कम 38.9 फीसद और निम्न आय समूह (लो इनकम ग्रुप) में और भी कम यानी 37.6 फीसद रहा। इस सवाल से असहमत होने वालों की संख्या आर्थिक शक्ति के साथ ऊपर जाते दिखाई दी है। वहीं अगर शिक्षा समूह की बात करें, तो कोरोना को लेकर 42.3 फीसद मिडिल एजुकेशन ग्रुप सबसे कम चिंतित है। जबकि 38.1 हायर एजुकेशन ग्रुप और 38.6 प्रतिशत लो एजुकेशन ग्रुप को इस संबंध में कुछ चिंता जरूर है।

हालांकि, हायर एजुकेशन ग्रुप के बीच 20.2 फीसद उत्तरदाताओं ने कहा कि वे पूरी तरह से निश्चिंत हैं, जबकि अन्य दो एजुकेशन सेगमेंट में यह यह फीसद काफी कम रहा। आपको बता दें कि आईएएनएस सी-वोटर कोविड ट्रैकर फाइंडिंग एंड प्रोजेक्शन सीएटीआई पर एक दैनिक ट्रैकिंग पोल पर आधारित हैं।

कोरोना से देश में भारी आर्थिक संकट के आसार, रघुराम राजन बोले - मैं मदद के लिए तैयार

कोरोना से लड़ने के लिए EPFO से निकासी जारी, 10 दिनों के अंदर निपटाए 1.37 लाख निकासी दावे

अगर लॉकडाउन में कंपनीयों ने कर्मचारीयों का काटा या रोका वेतन तो, सरकार कर देगी ऐसा हाल

- Sponsored Advert -

Most Popular

- Sponsored Advert -