Live रेल बजट : रेलवे का विज़न ऐसी रेल सेवा देना जिस पर सभी को गर्व हो

Feb 25 2016 12:40 PM
Live रेल बजट : रेलवे का विज़न ऐसी रेल सेवा देना जिस पर सभी को गर्व हो

नई दिल्ली : रेलमंत्री सुरेश प्रभु इस समय संसद में रेल बजट प्रस्तुत कर रहे है। रेल बजट के पहले उन्होंने अपना अभिभाषण दिया। जिसमें उन्होंने रेलवे में साफ - सफाई की स्थिति में आए बदलाव पर संतोष जताया। उनका कहना था कि रेलवे की दशा को सुधारने में एनजीओज़ का अच्छा सहयोग मिला। उन्होंने कहा कि यह बजट आम आदमी के लिए तैयार किया गया है। इस पर अच्छी चर्चा की गई है। इसे तैयार करने में यात्री की गरिमा, रेल की गति और रेल बजट प्रबंधन का ध्यान रखा गया है।

रेलमंत्री सुरेश प्रभु ने कहा है कि पूर्वप्रधानमंत्री अटल बिहारी वाजपेयी की पंक्तियों का उल्लेख करते हुए रेलवे के कार्यों को आगे बढ़ाने की बात कही। उन्होंने कहा कि विश्व में मंदी का असर है। इसकी भी बढ़ी चुनौती है। सुरेश प्रभु ने रेलवे के लिए तीन बातों पर ध्यान देते हुए कहा कि नवअर्जन रेलवे के लिए प्राथमिकता है। नवमाणन के तहत वित्तीय वर्ष में खर्च होने वाले एक एक रूपए का आंकलन किया जाएगा। हर क्रिया कलाप को पूरा करेंगे। नवसंरचना के तहत अंदरूनी ढांचों और अन्य बातों का फिर से अवलोकन किया जाएगा। उनका कहना था कि काम करने के स्वरूप में बदलाव लाया जाएगा।

उन्होंने कहा कि रेलवे केवल किराया बढ़ाकर कमाई का स्त्रोत बढ़ाने पर ध्यान नहीं देगा। मगर अर्थव्यवस्था के लिए सरकारात्मक दृष्टिकोण अपनाऐंगे। उन्होंने कहा कि माल भाड़ा बढ़ाकर किराया बढ़ाया जा सकता है। रेलमंत्री ने कहा कि रेलवे राज्य सरकार और अन्य तरह की भागीदारी की सूची को पहली बार एक बुक में तय कर रहा है। रेलवे का विज़न ऐसी रेल सेवा देना है जिस पर सभी को गर्व हो। उन्होंने कहा कि सेमिहाईस्पीड गाडि़यों का परिचालन भी रेलवे के कार्य में है। प्रधानमंत्री की मंशा के अनुसार तेजी, कुशलता और पारदर्शिता का ध्यान रेलवे के कार्यों में रखा जाएगा। इस मामले में रेल परियोजनाओं पर चर्चा करने की बात भी कही गई।

उन्होंने कहा कि गाडि़यों का संचालन समय पर करने और सभी को रिजर्वेशन मिल पाने का लक्ष्य 2020 तक के लिए रखा गया है। उन्होंने कहा कि रेलवे मानव रहित समपार को समाप्त कर देगा। यह उसका उद्देश्य है। रेलवे द्वारा यात्रियों को जब उन्हें जरूरत हो तब टिकट उपलब्ध करवाने की सेवा को वर्ष 2020 तक पूर्ण किया जाएगा। उनेंने कहा कि रेलवे में संरचना के पुनर्निर्माण और पुर्नगठन की आवश्यकता है। रेलमंत्री सुरेश प्रभु ने रेलवे के विद्युतीकरण पर भी ध्यान दिया। उनका कहना था कि इसे दोगुना करने पर भी ध्यान दिया जाएगा।

उन्होंने कहा कि मिजोरम में अमानपरिवर्तन पर ध्यान दिया जा रहा है। जम्मू - कश्मीर में उधमपुर और कटरा बलिहार का रेलखंड अच्छा कार्य कर रहा है यहां कई तरह की विषमताऐं हैं। उन्होंने मेकइन इंडिया पर ध्यान देते हुए कहा कि सरकार दो कारखानों को स्थापित करने में लगी हुई है जिसमें बिहार, पूर्वी क्षेत्र में रोजगार की संभावनाओं को बढ़ाने पर ध्यान देगा। पारदर्शिता सरकार का महत्वपूर्ण सिद्धांत है। सोश्यल मीडिया को भी रेलवे अपना रहा है।

रेलवे का प्रयास है कि कागज का उपयोग कम से कम हो। रेलवे इलेक्ट्राॅनिक कार्यप्रणाली पर कार्य देने में लगा है। उन्होंने कहा कि यात्री गाडि़यों की स्पीड को 80 किलोमीटर प्रतिघंटा तक करने का प्रयास रेलवे द्वारा किया जा रहा है। उन्होंने कहा कि रेलवे की सभी प्रक्रियाऐं ई - प्लेटफाॅर्म पर हो रही हैं।