सुप्रीम कोर्ट पहुंचा त्रिपुरा हिंसा का मामला, भाजपा बोली- खेला होबे का मतलब ही 'अत्याचार'

नई दिल्ली: त्रिपुरा में चुनावों में हिंसा को लेकर सियासी घमासान जारी है. तृणमूल कांग्रेस (TMC) इस मामले में आर-पार के मूड में नज़र आ रही है. लिहाजा सोमवार को पूरे दिन हंगामा मचा रहा. अब इस मुद्दे को लेकर TMC सुप्रीम कोर्ट पहुंच गई है, त्रिपुरा हिंसा को लेकर सुप्रीम कोर्ट में आज सुनवाई होनी है. वहीं ममता बनर्जी सोमवार को राष्ट्रीय राजधानी के लिए रवाना हो चुकी हैं. कई TMC सांसद पहले ही दिल्ली में डेरा डाले बैठे हैं. 

बंगाल की सीएम ममता ने कहा कि त्रिपुरा में अराजकता का माहौल है. लोग खुलेआम खंजर और लाठियां लेकर घूम रहे हैं. मेरे सांसद गृह मंत्री अमित शाह से मिलना चाहते हैं, हालांकि, मैंने उनसे गृह मंत्रालय के सामने धरना देने से रोका है. ममता ने कहा कि मेरी पीएम मोदी से मुलाकात प्रस्तावित है. इस दौरान BSF के मुद्दे पर भी चर्चा की जाएगी. सीएम ममता ने त्रिपुरा मामले को लेकर भाजपा पर निशाना साधते हुए कहा कि त्रिपुरा में लोगों को टार्गेट किया जा रहा है. ऐसे में मानवाधिकार भी कहीं नजर नहीं आ रहा. 

ममता ने आगे कहा कि त्रिपुरा में जो अत्याचार हो रहा है, भाजपा शासित राज्यों में गणतंत्र कंकाल में बदल चुका है. सयानी घोष जैसी कलाकार को भी अरेस्ट कर लिया गया है, उसके खिलाफ हत्या के प्रयास का मामला बना दिया गया है. उन्होंने कहा कि अभिषेक बनर्जी  त्रिपुरा गए हैं, वहां अत्याचार हो रहे हैं. वहां पर उपचार तक नहीं करने दे रहे. अब मानवाधिकार आयोग कहां गया  

भाजपा ने याद दिलाया बंगाल का रक्तपात:-

वहीं, भाजपा सांसद लॉकेट चटर्जी ने ममता बनर्जी पर पलटवार करते हुए कहा है कि 'खेला होबे का मतलब 60 से ज्यादा लोगों की मौत, 1 लाख से अधिक लोगों का पलायन, महिलाओं का सामूहिक बलात्कार और जुल्म है. यदि बंगाल में 'खेला होबे' की यही परिभाषा है तो त्रिपुरा में 'खेला होबे' कोई नहीं कहेगा. हमें विकास होबे चाहिए. बता दें कि बंगाल चुनाव में TMC ने खेला होबे का नारा दिया था और चुनाव में TMC की प्रचंड जीत के बाद राज्य में भीषण रक्तपात हुआ था, जिसमे कई लोग मारे गए थे और सैकड़ों जान बचाकर पड़ोसी राज्यों में भाग गए थे, साथ ही महिलाओं के भी बलात्कार किए गए थे और इन सभी का आरोप TMC के कार्यकर्ताओं पर लगा था.  

हबीबगंज के बाद मध्य प्रदेश में बदला जाएगा एक और रेलवे स्टेशन का नाम, सीएम शिवराज ने किया ऐलान

'मरते दम तक राहुल-प्रियंका का वफादार रहूंगा..', पंजाब में सिद्धू का बड़ा बयान

'जीरो बिजली बिल, हर महिला को 1-1 हज़ार प्रतिमाह..,' पंजाब में केजरीवाल ने लगाई चुनावी वादों की झड़ी

 

- Sponsored Advert -

Most Popular

- Sponsored Advert -