ज्ञानवापी का सर्वे पूरा, शिवलिंग मिलने का दावा..., आज सुप्रीम कोर्ट में सुनवाई

नई दिल्ली: तीन दिन और कुल 10 घंटे चले सर्वे के बाद कल हिंदू पक्ष ने ज्ञानवापी मस्जिद के वजूखाना में शिवलिंग पाए जाने का दावा किया है। हिंदू पक्ष ने इसके संरक्षण के लिए अदालत का रुख किया था, जिस पर अदालत ने वजूखाना को सील करने का आदेश दे दिया। इस बीच आज सर्वोच्च न्यायालय में ज्ञानवापी में सर्वेक्षण के खिलाफ मस्जिद कमेटी की याचिका पर सुनवाई होने वाली है। न्यायमूर्ति डीवाई चंद्रचूड़ और न्यायमूर्ति पीएस नरसिम्हा की बेंच इस याचिका को सुनेगी। याचिकाकर्ता अंजुमन इंतजामिया मसाजिद कमेटी ने उच्च न्यायालय के फैसले को सुप्रीम कोर्ट चुनौती दी है।

उल्लेखनीय है कि ज्ञानवापी का सर्वे कार्य कल पूरा हो चुका है। आज कोर्ट कमिश्‍नर को इसकी रिपोर्ट वाराणसी के सिविल जज सीनियर डिवीजन की कोर्ट में पेश करनी थी, मगर बताया जा रहा है कि रिपोर्ट अभी तैयार नहीं है। आज अदालत में इसके लिए अर्जी लगाकर अगली तारीख मांगी जाएगी। सहायक कोर्ट कमिश्‍नर अजय प्रताप सिंह ने मीडिया को बताया कि लगभग 50 फीसद रिपोर्ट तैयार हो गई है। पूरी रिपोर्ट तैयार करने के लिए हम कोर्ट से तीन से चार दिन का वक़्त मांगेंगे। 

उधर, मुस्लिम पक्ष ने दावा किया कि फव्वारे को शिवलिंग बताकर पूरे देश को भ्रमित किया जा रहा है। इस पर मंगलवार को हिंदू पक्ष के वकील विष्‍णु जैन ने कहा कि 'फव्वारे और शिवलिंग के बीच का फर्क हमें मालूम है।' उन्‍होंने कहा कि 'अगर फव्वारा होगा, तो नीचे पूरा सिस्‍टम होगा पानी के निकलने का, मगर जिस तरह से उसका शिवलिंग का आकार है। उसमें कुछ डंडियां डाली गई थीं पर वो अधिक अंदर तक गई नहीं, तो शिवलिंग खंडित हुआ या नहीं ? यह तो मैं अ‍भी बहुत पुख्‍ता तौर पर नहीं बता सकता, मगर मेरी और हिंदू पक्ष की नजर में वो एक शिवलिंग है।'

तमिलनाडु सरकार ने एलिवेटेड एक्सप्रेसवे के लिए एनएचएआई के साथ समझौता ज्ञापन पर हस्ताक्षर किए

फिजी ने पर्यटन में दस गुना वृद्धि दर्ज की

दक्षिण कोरियाई एयरलाइंस अंतरराष्ट्रीय मार्गों पर रिकॉर्ड ईंधन अधिभार लगाएगी

 

- Sponsored Advert -

Most Popular

- Sponsored Advert -