झारखंड जज हत्या मामले में सुप्रीम कोर्ट ने लिया स्वतः संज्ञान, जांच के लिए गठित हुई SIT

रांची: झारखंड के धनबाद में अतिरिक्त जिला न्यायाधीश उत्तम आनंद की हत्या के मामले पर शीर्ष अदालत ने स्वत: संज्ञान लिया है. भारत के मुख्य न्यायाधीश (CJI) एनवी रमणा के नेतृत्व वाली बेंच ने इस मामले में एक हफ्ते के अंदर झारखंड के मुख्य सचिव और पुलिस महानिदेशक के जरिए जांच पर स्टेटस रिपोर्ट मांगी है.

सर्वोच्च न्यायालय का कहना है कि राज्य के मुख्य सचिव और पुलिस महानिदेशक झारखंड में अदालत परिसरों के भीतर और बाहर कानून-व्यवस्था की स्थिति की विस्तृत जानकारी भी देंगे. CJI जस्टिस एनवी रमणा और न्यायमूर्ति सूर्यकांत की पीठ ने स्वत: संज्ञान लेते हुए कहा कि झारखंड में हाल के महीनों में न्यायिक अधिकारियों और वकीलों पर जानलेवा हमलों की घटनाएं बढ़ी है.

उन्होंने कहा कि इसका सीधा मतलब कानून व्यवस्था से है. ये स्थिति चिंता बढ़ाने वाली है. लिहाज़ा राज्य सरकार और पुलिस प्रशासन इस संबंध में अदालत में रिपोर्ट सबमिट करे. शीर्ष अदालत ने लगे हाथ यह भी स्पष्ट कर दिया कि उनके इस आदेश का झारखंड उच्च न्यायालय में चल रही सुनवाई पर कोई असर नहीं पड़ेगा. क्योंकि उच्च न्यायालय इस खास मामले में सुनवाई कर रहा है और शीर्ष अदालत इस विस्तृत मुद्दे पर सुनवाई कर रहा है.

आम नागरिकों के लिए सरकार लायी बड़ी सौगात, घर बैठे जीत सकते है 15 लाख रुपए

खुशी अरुण कुमार ने सामाजिक भ्रष्टाचार विरोधी विज्ञापन प्रतियोगिता में जीता पुरस्कार

फिर मंडराया कोरोना का ख़तरा, अंतर्राष्ट्रीय उड़ानों पर 31 अगस्त तक लगी रोक

- Sponsored Advert -

Most Popular

- Sponsored Advert -