कसौली गोलीकांड : सुनवाई में कोर्ट ने सरकार को घेरा, पूछे कई गंभीर सवाल

शिमला : राज्य के कसौली में बीते दिनों महिला अधिकारी शैल बाला की मौत के बाद से अभी तक मातम पसरा हुआ हैं. गौरतलब है कि कसौली में सुप्रीम कोर्ट के आदेश के बाद कुछ अवैध होटलों को हटाया गया था. वहीं जब शैलबाला अपनी टीम के साथ एक होटल जिसका नाम नारायणी गेस्ट हाउस हैं, पर पहुंची तो उसके मालिक ने महिला अधिकारी शैलबाला पर तीखी नोकझोंक के चलते गोलियां बरसा दी थी. जिसके बाद महिला अधिकारी की मौत हो गई थी. फ़िलहाल इस मामले में आरोपी को गिरफ्तार कर लिया गया है. और वह इस समय 15 दिन की न्यायिक हिरासत में हैं. 

इस मामले में आज सुप्रीम कोर्ट में सुनवाई हुई है. जिसमे आरोपी को न्यायिक हिरासत में भेजा गया है. साथ ही अदालत ने प्रदेश सरकार को उन अधिकारियों के नाम बताने का आदेश दिया हैं, जिनके कार्यकाल में कसौली में अवैध निर्माण हुआ. साथ ही अदालत में सख्त रवैया अपनाते हुए यह भी जानकारी मांगी है कि उन आरोपियों पर किस प्रकार की कार्रवाई की गई हैं.

सुनवाई में अवैध निर्माण पर लगातार चर्चा होती रही. अदालत ने सरकार से सवाल किया कि अवैध निर्माण को रोकने के लिए क्या दिशानिर्देश हैं और इसके लिए क्या-क्या कदम उठाए गए हैं? इस संबंध में अदालत में सरकार से अगस्त माह के पहले सप्ताह तक जवाब की मांग की हैं. अदालत ने सरकार को चेताते हुए कहा कि कसौली में अवैध निर्माण के लिए जिम्मेदार अधिकारियों के खिलाफ जब तक कार्रवाई नहीं होगी, तब तक सख्त संदेश नहीं जाएगा.

बीजेपी MLA के बेटे पर रेप का आरोप

यूपी: बीजेपी नेता की सरे-आम गोली मारकर हत्या

इंदौर एयरपोर्ट पर फूड आउटलेट की सुविधा

- Sponsored Advert -

Most Popular

- Sponsored Advert -