वकीलों के रवैये पर सुप्रीम कोर्ट ने जताई आपत्ती

नई दिल्ली : अब मोटी फीस लेकर पैरवी करने वाले अभिभाषक केस को बीच में ही नहीं छोड़ पाऐंगे। दरअसल सुप्रीम कोर्ट ने इस मामले में अपनी आपत्ती ली है। इस मामले में यह भी कहा गया कि न्यायालय द्वारा ऐसे वकीलों को लेकर नाराजगी जताई गई है जो मोटी फीस ले लेते हैं और फिर केस से पीछे हट जाते हैं। इस मामले में यह भी कहा गया कि है कि सर्वोच्च न्यायालय में इस तरह के मामले बहुत हो रहे हैं यह भी कहा गया कि यह बेहद दुर्भाग्यपूण है। कोर्ट में कई मुवक्किल आते हैं और उनके लिए वकील मिल पाना बेहद मुश्किल हो जाता है।

ऐसे में गरीबों को परेशानी होती है। वकीलों के व्यस्त रहने के कारण अन्य वकील लोगों की मजबूरी का लाभ उठाकर उनसे मोटी फीस ले लेते हैं। उल्लेखनीय है कि सर्वोच्च न्यायालय में एक प्रकरण में सुनवाई की जिसमे यह कहा गया कि आर्मी वेलफेयर एजुकेशन सोसायटी और केंद्र सरकार के बीच हुए विवाद में वकील के केस से हटने पर आपत्ती ली। कोर्ट वकील के इस रवैये से नाराज़ हो गया। इस मामले में सुप्रीम कोर्ट ने वकील से हलफनामा दायर कर कारण बताने के लिए कहा। न्यायालय ने करीब 2 सप्ताह में जवाब भी मांगा। 

- Sponsored Advert -

Most Popular

- Sponsored Advert -