अरूणाचल प्रदेश में राष्ट्रपति शासन को लेकर सुप्रीम कोर्ट में सुनवाई आज

Feb 01 2016 10:23 AM
अरूणाचल प्रदेश में राष्ट्रपति शासन को लेकर सुप्रीम कोर्ट में सुनवाई आज

नई दिल्ली : अरूणाचल प्रदेश में राजनीतिक अस्थिरता को देखते हुए लागू किए गए राष्ट्रपति शासन लगाए जाने के ख़िलाफ़ कांग्रेस की ओर से दायर अर्ज़ी पर सोमवार को सुप्रीम कोर्ट में सुनवाई होगी. कांग्रेस ने सरकार पर आरोप लगाते हुए कहा है कि राज्य में राष्ट्रपति शासन लगाए जाने के मामले में केंद्र का रुख़ पक्षपातपूर्ण है. गौरतलब है कि राष्ट्रपति प्रणब मुखर्जी ने मंगलवार को अरूणाचल प्रदेश में राष्ट्रपति शासन लागू करने की केंद्रीय कैबिनेट की सिफारिश को मंजूरी दे दी है.

बता दे कि इस मामले में पिछली सुनवाई बुधवार को हुई थी, जिसमे सुप्रीम कोर्ट ने नाराजगी जाहिर करते हुए केंद्र सरकार और राज्यापाल से दो दिनों के भीतर जवाब मांगा था. जिसके बाद केंद्र सरकार ने शुक्रवार को इस मामले में सुप्रीम कोर्ट में सफाई भी दी थी. केंद्र ने कहा था कि राज्य में राजनीतिक अस्थिरता है और ऐसे में पड़ोसी देश चीन से भी ख़तरा है, वहीँ राज्यपाल की ओर से भी अपना पक्ष कोर्ट को दिया जा चुका है.

बता दे कि अरुणाचल प्रदेश में कांग्रेस की सरकार थी और 60 सदस्यों वाली अरुणाचल विधानसभा में कांग्रेस के पास 47 सदस्य थे, लेकिन इनमें से 21 विधायकों ने बगावत कर दी और सदन के डिप्टी स्पीकर को विधायक दल का नेता चुन लिया. बगावत करने वाले विधायकों को बीजेपी के 11 और 2 निर्दलीय विधायकों का भी समर्थन था. इस सब के बाद नबाम टुकी की सरकार अल्पमत में आ गई, जिसके बाद राज्य में राष्ट्रपति शासन लगा दिया गया.