धनबाद जज हत्याकांड: सुप्रीम कोर्ट का सख्त रुख, झारखंड सरकार से 1 हफ्ते में मांगी रिपोर्ट

रांची: झारखंड के धनबाद जिला एवं सत्र न्यायाधीश उत्तम आनंद की मौत के मामले पर सर्वोच्च न्यायालय ने संज्ञान लिया है और एक सप्ताह के भीतर मुख्य सचिव और DGP के माध्यम से झारखंड सरकार से जांच की रिपोर्ट मांगी है. देश के मुख्य न्यायाधीश (CJI) एनवी रमन्‍ना और न्यायमूर्ति सूर्यकांत की बेंच ने कहा कि अदालत परिसर के अंदर और बाहर न्यायिक अधिकारियों और वकीलों पर हमले के कई मामले प्रकाश में आए हैं, जो देश में न्यायिक अधिकारियों की सुरक्षा के बड़े मुद्दे को संबोधित करना चाहते हैं.

सर्वोच्च न्यायालय ने कहा कि न्यायिक अधिकारियों और वकीलों की सुरक्षा करना राज्यों का कर्तव्य है, जिससे न्‍यायिक अधिकारी इंसाफ दिलाने की कोशिश करते हुए स्वतंत्र और बेख़ौफ़ होकर काम करें. अदालत ने कहा कि सुनवाई की अगली तारीख पर वह सभी राज्यों को नोटिस जारी करने को लेकर विचार करेगी.

इस मामले पर CJI एनवी रमना ने कहा क‍ि यह दुर्भाग्यपूर्ण घटना बुधवार को हुई जहां ADJ को एक ऑटो रिक्शा ने टक्कर मार दी थी. इस वीभत्स घटना को समाचार पत्र और सोशल मीडिया में जमकर रिपोर्ट किया गया था, झारखंड उच्च न्यायालय के मुख्य न्यायाधीश ने गुरुवार को इस घटना पर संज्ञान लिया था. जिसके बाद पुलिस इस मामले की जांच में जुटी हुई है. 

अगस्त 2022 तक चालू होगा गोवा का नया हवाई अड्डा

लगातार 13वें दिन भी पेट्रोल-डीजल की कीमतों में राहत, जानिए आज का दाम

सीईए ने कहा- "जीएसटी दर संरचना का युक्तिकरण सरकार के एजेंडे में..."

- Sponsored Advert -

Most Popular

- Sponsored Advert -