सुपरस्टार रजनीकांत ने 'राजनीति' से लिया सन्यास, बोले- अब कभी नहीं करूँगा पॉलिटिक्स

चेन्नई: सुपरस्टार रजनीकांत (Rajinikanth) ने आखिरकार सियासत से हमेशा के लिए दूरी बनाने का ऐलान कर दिया है. सोमवार को इसकी घोषणा करते हुए 'थलाइवा' ने अपने बनाए गए संगठन रजनी मक्कल मंदरम (RMM) को भी भंग कर दिया. इस अवसर पर रजनीकांत ने कहा कि भविष्य में फिर सियासत में आने का उनका कोई प्लान नहीं है.

रजनीकांत की ओर से आगे बताया गया है कि उनका बनाया गया संगठन अब रजनी रसीगर नरपानी मंदराम के नाम से जनता की भलाई के लिए कार्य करता रहेगा. बता दें कि रजनीकांत ने 29 दिसंबर, 2020 को घोषणा की थी कि वह राजनीति में नहीं आएंगे. किन्तु हाल में उन्होंने कहा था कि वह राजनीति में आने के बारे में फिर से विचार करेंगे. लेकिन अब उन्होंने सभी तरह की अटकलों पर विराम लगा दिया है. रजनीकांत के फिर से राजनीति में आने की चर्चाओं के बीच तमिलनाडु की सियासत में हलचल होने लगी थी.

बता दें कि दिसबंर 2020 में रजनीकांत ने खुद कहा था कि जनवरी 2021 में वे अपनी राजनितिक पार्टी लॉन्च करेंगे. यह सब तमिलनाडु में विधानसभा चुनाव से पहले होने वाला था. किन्तु दिसंबर के अंतिम सप्ताह में रजनीकांत ने यू-टर्न लिया और कहा कि वह राजनीति में शामिल नहीं होंगे. उसके बाद रजनीकांत के संगठन के कई सदस्यों ने DMK सहित अन्य सियासी दलों की सदस्यता ले ली थी. 

कांग्रेस नेता रमेश चेन्निथला ने धर्मनिरपेक्ष दलों से सहकारी समितियों को आगे बढ़ाने का किया आग्रह

अलक़ायदा से 'अखिलेश यादव' का क्या संबंध ? आतंकियों की गिरफ्तारी पर दिया विवादित बयान

असम के मुख्यमंत्री ने कोविड प्रभावित विधवाओं के लिए वित्तीय योजना को किया शुरू

- Sponsored Advert -

Most Popular

- Sponsored Advert -