सुल्तान अजलान शाह कप : नए कोच के साथ भारत करेगा शुरुआत

By
Apr 05 2015 04:34 PM
सुल्तान अजलान शाह कप : नए कोच के साथ भारत करेगा शुरुआत
style="text-align: justify;">भारतीय पुरुष हॉकी टीम रविवार को जब सुल्तान अजलान शाह कप में खेलने उतरेगी तो अपने नवनियुक्त कोच पॉल वैन ऐस के मार्गदर्शन में वह नई शुरुआत करना चाहेगी। भारतीय हॉकी टीम के लिए बीता वर्ष (2014) काफी सफल रहा और वे 16 वर्षो बाद एशियाई खेलों का स्वर्ण पदक हासिल करने में कामयाब रहे। चैम्पियंस ट्रॉफी में भी भारतीय टीम ने दुनिया की शीर्ष टीम आस्ट्रेलिया को कड़ी टक्कर दी और चौथे स्थान पर रहे। अजलान शाह कप न सिर्फ भारतीय टीम के लिए इस वर्ष का पहला टूर्नामेंट है, बल्कि नीदरलैंड के वैन ऐस के लिए भी बतौर भारतीय कोच यह पहली चुनौती होगी। रविवार से शुरू होकर 12 अप्रैल तक चलने वाले इस टूर्नामेंट में विश्व की नौवें नंबर की भारतीय टीम विश्व चैम्पियन आस्ट्रेलिया, सातवें नंबर की न्यूजीलैंड, आठवें नंबर की दक्षिण कोरिया, 12वें नंबर की मलेशिया और 15वें नंबर की कनाडा से भिड़ेगी। 

सभी टीमों के लिए यह टूर्नामेंट इसलिए भी काफी अहमियत रखता है, क्योंकि इसी वर्ष जून में होने वाले हॉकी वर्ल्ड लीग (एचडब्ल्यूएल) के सेमीफाइनल मुकाबलों से पहले यह एकमात्र अंतर्राष्ट्रीय स्तर का टूर्नामेंट है। भारतीय टीम रियो ओलम्पिक-2016 के लिए पहले ही क्वालीफाई कर चुकी है, लेकिन उससे पहले वे अपनी जीत की लय भी बरकरार रखना चाहेंगे। सरदार सिंह के नेतृत्व में भारतीय टीम और दक्षिण कोरिया के बीच होने वाले मुकाबले से टूर्नामेंट की शुरूआत होगी। दोनों टीमें इससे पहले आखिरी बार एशियाई खेलों-2014 के सेमीफाइनल में भिड़ी थीं, जहां भारत 1-0 से विजयी रहा था। भारतीय टीम के कोच वैन ऐस ने कहा, "हमारे लिए सभी मैच महत्वपूर्ण हैं, लेकिन पहला मैच टीम के टूर्नामेंट में पूरे अभियान पर हमेशा बड़ी भूमिका निभाता है।" उन्होंने कहा, "अच्छा प्रदर्शन निश्चित तौर पर खिलाड़ियों के आत्मविश्वास में इजाफा करेगा, साथ ही कोचिंग स्टाफ में सकारात्मक ऊर्जा का संचार करेगा। 

पूरी टीम पहले मैच के लिए अच्छी तरह तैयार है और सभी खिलाड़ी आत्मविश्वास से भरे हुए हैं।" वैन ऐस के मार्गदर्शन में नीदरलैंड्स 2012 में ओलम्पिक खेलों में तथा 2014 में विश्व कप में रजत पदक जीतने में सफल रही थी। भारतीय टीम के कप्तान सरदार सिंह का लक्ष्य भी पहले मैच में जीत हासिल करना है। सरदार सिंह ने कहा, "दक्षिण कोरिया एक मजबूत टीम है और एशिया में सर्वश्रेष्ठ टीम के रूप में देखी जाती है। वे हमें कई अवसरों पर हैरान करने में सफल रहे हैं, इसलिए हम इस मैच को हल्के में लेने की गलती नहीं कर सकते।" भारतीय टीम पांच बार अजलान शाह कप विजेता रहा है, लेकिन पिछले दो बार की चैम्पियन आस्ट्रेलिया के सामने उसकी कड़ी परीक्षा होगी। इस टूर्नामेंट के लिए टीम में स्ट्राइकर मंदीप सिंह और सतबीर सिंह को शामिल किया गया है, जबकि रमनदीप सिंह, एस. वी. सुनील, आकाशदीप सिंह और निकिन थिमैया अन्य फॉरवर्ड खिलाड़ी होंगे। मिडफील्ड में कप्तान सरदार के अलावा वापसी करने वाले चिंगनेसाना सिहं, मनप्रीत सिंह, धरमवीर सिंह और एस. के. उथप्पा रहेंगे। देश के शीर्ष गोलकीपर पी. आर. श्रीजेश को टीम का उप-कप्तान नियुक्त किया गया है। हरजोत सिंह को वैकल्पिक गोलकीपर के तौर पर शामिल किया गया है। इनके अलावा रुपिंदर पाल सिंह और वी. आर. रघुनाथ के लिए रूप में दो ड्रैग फ्लिकर विशेषज्ञों से टीम को काफी उम्मीदें रहेंगी।