मर गया किसान, आप नेता देते रहे भाषण

Apr 22 2015 03:07 PM
मर गया किसान, आप नेता देते रहे भाषण
नई दिल्ली : आम आदमी पार्टी द्वारा संसद में लाए गए भूमि अधिग्रहण बिल के विरोध में रैली का आयोजन किया जा रहा है। इस बीच आप द्वारा किए जा रहे संसद मार्च और रैली में पहुंचे एक व्यक्ति ने क्षेत्र में लगे एक पेड़ से फंदा लगाकर आत्महत्या के प्रयास किए। आप नेताओं और लोगों के ध्यान दिए जाने के बाद इस युवक को फंदे से उतारने की कोशिशें की गई जिसके बाद उसे अस्पताल पहुंचाया गया लेकिन चिकित्सकों ने उसे मृत घोषित कर दिया, बताया जा रहा है कि अस्पताल पहुचने से पहले ही उसकी मौत हो गयी थी। युवक की पहचान गजेंद्र निवासी दौसा, राजस्थान के तौर पर हुई है। जब किसान आत्महत्या कर रहा था उस समय आप नेता भाषण दे रहे थे, अगर आप नेताओ ने जरा सी भी कोशिश की उसे बचाने की तो आज किसान कि मौत नहीं होती 
 
मिली जानकारी के अनुसार राजस्थान के दौसा निवासी एक युवक आम आदमी पार्टी द्वारा आयोजित की जाने वाली रैली में पहुंचा। इस दौरान जब लोग आप कार्यकर्ताओं और वरिष्ठ नेताओं के भाषण सुन रहे थे, इसी बीच अफरा - तफरी मच गई। इसके बाद सभी का ध्यान वहां लगे एक पेड़ पर गया। पेड़ पर एक युवक लटका हुआ था। जिसे कुछ लोगों ने नीचे उतारा। नीचे उतारे जाने के बाद उक्त युवक को अस्पताल पहुंचा दिया गया। मिली जानकारी के अनुसार पुलिस को गजेंद्र के पास से सुसाईड नोट मिला है, जिसमें गजेंद्र ने फसल नुकसानी का हवाला दिया। सुसाईड नोट में लिखा गया था कि उसके तीन बच्चे हैं और घर में खाने तक के लाले पड़े हुए हैं। उसके पिता ने उसे घर से निकाल दिया है। वह परेशान हो गया है। 
 
युवक द्वारा किसान रैली में आत्महत्या के प्रयासों को काफी गंभीर माना जा रहा है। मामले को लेकर दिल्ली पुलिस की कार्यप्रणाली पर भी सवाल उठाए जा रहे हैं। बताया जा रहा है कि पुलिस ने किसान को बचाने के लिए कोई प्रयास नहीं किए। दूसरी ओर आप नेताओं के भाषण भी करीब डेढ़ घंटे तक चलते रहे, हालांकि आप नेताओं ने लोगों से युवक को पेड़ से उतारकर बचाने की अपील जरूर की मगर दिल्ली पुलिस निष्क्रिय बनी रही, दूसरी ओर आम आदमी पार्टी की रैली कुछ देर बाद फिर प्रारंभ हुई। 
 
इस दौरान आयोजित की गई आम सभा में आप नेता और कवि कुमार विश्वास ने भी किसानों को संबोधित किया। दूसरी ओर मुख्यमंत्री अरविंद केजरीवाल को युवक द्वारा आत्महत्या के प्रयासों की जानकारी लगते ही उन्होंने इस बारे में कार्यकर्ताओं से जानकारी ली। बताया जा रहा है कि रैली के बाद मुख्यमंत्री श्री केजरीवाल अस्पताल में उक्त युवक का हाल जानने पहुंच सकते हैं।